Home » इंडिया » Triple Talaq ordinance: Asaduddin Owaisi says this ordinance is unconstitutional
 

ओवैसी का PM मोदी पर हमला- उन महिलाओं के लिए बनाएं कानून जिनके पति साथ नहीं रहते

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 September 2018, 14:52 IST
(File Photo)

मोदी सरकार की कैबिनेट ने आज तीन तलाक़ संशोधित बिल पास कर दिया. इस बिल के पास होने के बाद से ही राजनीति के गलियारों से अलग-अलग प्रत्रिक्रियाएं आनी शुरू हो गई हैं. तीन तलाक़ बिल पर असदुद्दीन ओवैसी ने कहा. ''ये अध्यादेश मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ है. इस अध्यादेश से मुस्लिम महिलाओं को न्याय नहीं मिलेगा. इस्लाम में शादी एक नागरिक अनुबंध है और इसमें सजा के प्रावधान को शामिल करना गलत है.''

 

इतना ही नहीं इस बिल को लेकर सीधा प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए ओवैसी ने कहा, '' मैं प्रधानमंत्री से ये अनुरोध करता हूं कि देश की उन 24 लाख महिलाओं के लिए भी कोई क़ानून लाया जाए जिनके पति चुनाव शपथ पत्र में तो लिखते हैं कि वो विवाहित है लेकिन अपनी पत्नियों के साथ नहीं रहते.''

तीन तलाक बिल: रविशंकर प्रसाद ने सोनिया गांधी पर साधा निशाना- वोट बैंक के लिए नहीं पास होने दिया बिल

 

इस बिल को लेकर अलग-अलग तरह के बयान सामने आने लगे हैं. कांग्रेस की तरफ से रणदीप सुरजेवाला ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा, ''मोदी सरकार ने ये काम मुस्लिम महिलाओं के साथ न्याय के लिए नहीं बल्कि राजनीतिक मुद्दा बनाने के लिए किया है.''

वहीं इस अध्यादेश के पास होने की जानकारी देते हुए केंद्रीय कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि देश की एक प्रतिष्ठित और वरिष्ठ महिला नेता होने के बाद भी सोनिया गांधी ने तीन तलाक जैसे बर्बर नियम को खत्म नहीं होने दिया. कांग्रेस ने वोट बैंक के लिए इस बिल को पास नहीं होने दिया.

 

First published: 19 September 2018, 14:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी