Home » इंडिया » Tripura assembly election live: BJP ahead on the Left in the first hours, tripura cpm manik sarkar
 

Tripura assembly election live: 'लाल किले' में भाजपा की जोरदार दस्तक, हो सकता है उलटफेर!

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 March 2018, 9:27 IST

देश के पूर्वोत्तर राज्यों त्रिपुरा, नागालैंड और मेघालय में हुए विधानसभा चुनाव के वोटों की गिनती शुरू हो चुकी है. सुबह आठ बजे तमाम सुरक्षा के बीच वोटों की गिनती चालू हो चुकी है. इस बार के चुनाव की खास बात यह है कि भाजपा के लिए इस चुनाव में माहौल गर्म है.

शुरुआती रुझानों में भाजपा तीनों राज्यों में बढ़त बनाती दिख रही है. लेफ्ट के गढ़ त्रिपुरा की बात करें पहले घंटे में भाजपा और लेफ्ट में कांटे की टक्कर दिख रही है. अभी तक आए रुझानों में दोनों पार्टियां लगभग बराबर-बराबर सीटों पर बढ़त बनाए हुई हैं.

अभी तक आए रुझानों में भाजपा 25 सीट पर तो लेफ्ट 28 सीट पर आगे चल रही है. सोचने की बात है कि जिस भारतीय जनता पार्टी का पिछले चुनाव में खाता तक नहीं खुला था. इस बार वह लेफ्ट का किला ढहाने की फिराक में है.

पिछले दो दशकों से त्रिपुरा की सत्‍ता के निर्विवाद चेहरा रहे सीपीएम नेता मुख्‍यमंत्री माणिक सरकार इस बार अब तक की सबसे कठिन सियासी लड़ाई लड़ रहे हैं. माणिक सरकार 1997 से राज्‍य के मुख्‍यमंत्री हैं लेकिन इस बार उनको पहली बार बीजेपी के रूप में कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है.

त्रिपुरा में बीजेपी की सबसे बड़ी ताकत राज्य में आईपीएफ़टी से उनका चुनावी गठबंधन है. ये पार्टी त्रिपुरा के जनजातीय लोगों का प्रतिनिधित्व करती है. आईपीएफ़टी त्रिपुरा का बंटवारा कर जनजातीय लोगों के लिए अलग राज्य की मांग करती रही है. त्रिपुरा विधानसभा में 20 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं.

उम्मीद की जा रही है कि बीजेपी और आईपीएफ़टी का गठबंधन इन 20 सीटों पर अच्छे नतीज़े दे सकता है. इन 20 सीटों में आईपीएफ़टी नौ सीटों पर और बीजेपी 11 सीटों चुनाव लड़ी है. ये माना जा रहा है कि अगर 20 सीटों में बीजेपी-आईपीएफ़टी गठबंधन 15-16 सीटें जीत ले और 10-12 सीटें दूसरे इलाकों से मिल जाएं तो त्रिपुरा का सियासी समीकरण बदल सकता है.

First published: 3 March 2018, 9:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी