Home » इंडिया » Tripura Election 2018: sunil deodhar the man behind tripura assembly win for bjp
 

Tripura Election 2018: ये है भाजपा का चाणक्य जिसने त्रिपुरा में पार्टी को शहंशाह बना दिया

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 March 2018, 13:10 IST

लेफ्ट के गढ़ माने  वाले त्रिपुरा में भारतीय जनता पार्टी बड़ी जीत की ओर अग्रसर होती दिखाई दे रही है. त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में भाजपा कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाना शुरू कर दिया. लोग ढोल-ताशा और भांगड़ा की धुन पर नाच रहे हैं. ऐसा लग रहा है कि त्रिपुरा में कल नहीं आज होली है. बीजेेपी मुख्यालयों में अबीर-गुलाल और रंग उड़ने शुरू हो गए हैं. फिलहाल बीजेपी दो तिहाई सीटों पर जीत हासिल करती दिख रही है.

लेकिन क्या आप जानते हैं कि भाजपा की इतनी बड़ी जीत का रणनीतिकार कौन है? आइए आपको हम बताते हैं भाजपा की दो तिहाई बहुमत से जीत दिलाने में किसका सबसे बड़ा हाथ है? इस शख्स का नाम है सुनील देवधर.

जब उन्हें भाजपा ने नॉर्थ ईस्ट की जिम्मेदारी दी थी. तब उन्हें बंगाली बोलनी नहीं आती थी लेकिन यहां रहते हुए उन्होंने स्थानीय भाषाएं सीखीं. बताया जाता है कि जब वो मेघालय, त्रिपुरा, नगालैंड में खासी और गारो जैसी जनजाति के लोगों से मिलते हैं तो उनसे उन्हीं की भाषा में बातचीत करते हैं.

सुनील देवधर के पास पहले वाराणसी सहित उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी थी. यहां चुनावों में भाजपा के अच्छे प्रदर्शन के बाद उन्हें नॉर्थ ईस्ट की जिम्मेदारी दी गयी थी. विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कई दलों के नेता और विधायकों ने भाजपा का दामन थामा था. इस काम में देवधर का बड़ा रोल था. उन्होंने 'मोदी लाओ' की जगह 'सीपीएम हटाओ', 'माणिक हटाओ' जैसे नारों को बुलंद किया.

First published: 3 March 2018, 12:50 IST
 
अगली कहानी