Home » इंडिया » Trump fulfills election promise, designates China a currency manipulator
 

ट्रंप ने पूरा किया चुनावी वादा, चीन को घोषित किया करेंसी मैनिपुलेटर

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 August 2019, 16:51 IST

अमेरिका ने आधिकारिक तौर पर चीन को करेंसी मैनिपुलेटर (मुद्रा हेरफेर करने वाला) नामित किया है. इससे पहले 1994 के बाद पहली बार चीन ने अपनी मुद्रा युआन में 7 डॉलर प्रति डॉलर का अवमूल्यन किया था, जो 11 वर्षों में सबसे कम था. चीन को यह लेबल देना राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का चुनावी अभियान का वादा था. गौरतलब है कि संयुक्त राज्य का ट्रेजरी विभाग किसी भी देश को तब करेंसी मेनपुलेटर के रूप में वर्णित करता है जब वह व्यापार में अनुचित लाभ प्राप्त करने के लिए जानबूझकर अपनी मुद्रा की विनिमय दर को प्रभावित करता है.

कारोबारी पर्तिस्पर्धा के दौरान कई बार देश अपने सामान को सस्ता करने के लिए अपनी मुद्रा का अवमूल्यन कर देते हैं और चीन ने भी अमेरिका से मुकाबला करने के लिए यही रणनीति अपनाई थी. ट्रेजरी सचिव स्टीवन मेनुचिन ने सोमवार को कहा कि अमेरिका ने देखा कि चीन युआन में हेरफेर कर रहा है. अमेरिका अब इस प्रतिस्पर्ध को रोकने के लिए अंतरराष्ट्रीय से बात करेगा ताकि चीन को रोका जा सके. दोनों देशों में एक साल पहले से वॉर छिड़ा हुआ है. ट्रम्प ने इसी कड़ी में 1 सितंबर से चीनी आयात पर के 300 बिलियन डॉलर के आयात 10% टैरिफ लगाने का वादा किया था.

अमेरिका अब इस प्रतिस्पर्ध को रोकने के लिए अंतरराष्ट्रीय से बात करेगा ताकि चीन को रोका जा सके. दोनों देशों में एक साल पहले से वॉर छिड़ा हुआ है. ट्रम्प ने इसी कड़ी में 1 सितंबर से चीनी आयात पर के 300 बिलियन डॉलर के आयात 10% टैरिफ लगाने का वादा किया था. अमेरिका के फैसले के बाद चीन के सरकारी अखबार पीपल्स डेली ने मंगलवार को कहा कि वाशिंगटन "जानबूझकर अंतर्राष्ट्रीय आदेश को नष्ट कर रहा है".

मई में अमेरिका ने भारत को अपनी मुद्रा निगरानी सूची से हटा दिया था, जिसमें उन देशों के नाम हैं जो संभावित रूप से संदिग्ध विदेशी मुद्रा नीतियां हैं और अमेरिका पर व्यापार लाभ हासिल करने के लिए अपनी मुद्राओं में हेरफेर करने का संदेह है. ट्रेजरी विभाग ने चीन को सूची से नहीं हटाया था, लेकिन इसे मुद्रा हेरफेर करने वाला लेबल देने से रोक दिया.

अमेरिका में फिर बहा बेगुनाहों का खून, बंदूकधारी ने की अंधाधुंध गोलीबारी, 9 की मौत कई घायल

First published: 6 August 2019, 14:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी