Home » इंडिया » Two BJP MP fight publicly in railway bridge inauguration in Karnataka Belagavi
 

Video: मंच पर बैठने को लेकर भिड़ गए BJP के दो सांसद, मारपीट की आई नौबत

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 December 2018, 16:17 IST

लोकसभा चुनाव 2019 से पहले एक तरफ बीजेपी अपना कुनबा बचाने में जुटी है और एनडीए के अपने समर्थक दलों को मनाने की जी-जान से कोशिश कर रही है, वहीं खुद उसके सांसद खुलेआम लड़ते नजर आ रहे हैं. बीजेपी सांसद अपनी प्रतिष्ठा की लड़ाई में सारी सीमाएं लांघ रहे हैं. ऐसा ही कुछ देखने को मिला कर्नाटक के बेलगावी में.

कर्नाटक के बेलगावी में एक रेलवे ब्रिज के उद्घाटन कार्यक्रम में पहुंचे दो भाजपा सांसद मंच पर बैठने को लेकर आपस में भिड़ गए. इस पूरे विवाद की शुरुआत मेहमानों की लिस्ट में एक सांसद का नाम शामिल ना होने के चलते हुई. मेहमानों की लिस्ट में नाम ना होने के कारण सांसद महोदय मंच पर बैठने को तैयार नहीं थे.

पढ़ें- पूर्व PM एच डी देवगौड़ा ने रखी थी बोगीबिल पुल की आधारशिला, नहीं बुलाया उद्घाटन में तो कह दी बड़ी बात

वहीं दूसरे सांसद उन्हें मंच पर चलने को कह रहे थे. इसी को लेकर दोनों के बीच गरमा-गरम बहस हो गई. मामला ज्यादा बढ़ता देख कुछ देर में दोनों सांसदों ने मामला सुलझा लिया.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बीजेपी से लोकसभा सांसद सुरेश अंगदी और राज्यसभा सांसद प्रभाकर कोरे बेलगावी में रेलवे ब्रिज के उद्घाटन कार्यक्रम में शामिल हुए थे. इस दौरान जब प्रभाकर कोरे कार्यक्रम में पहुंचे तो उनका नाम मेहमानों की लिस्ट में शामिल नहीं था. जिसकी वजह से गुस्से में आए प्रभाकर कोरे स्टेज पर जाने के बजाए सामने लगीं कुर्सियों पर ही बैठ गए.

जब भाजपा सांसद सुरेश अंगदी ने यह देखा तो वह स्टेज से उतरकर कोरे के पास आए और उन्हें स्टेज पर चलने को कहने लगे. तभी प्रभाकर कोरे ने स्टेज पर जाने से इंकार कर दिया. उन्होंने कहा कि जब उनका नाम मेहमानों की लिस्ट में नहीं है तो वह स्टेज पर नहीं जाएंगे.

पढ़ें- भारत को दहलाने के लिए ISIS ने बनाया खतरनाक संगठन, यूपी-दिल्ली से 5 गिरफ्तार

बार-बार कहने के बावजूद प्रभाकर कोरे स्टेज पर नहीं गए तो सुरेश अंगदी नाराज हो गए. उन्होंने नाराज होते हुए कहा कि एक बुजुर्ग होते हुए आप इस तरह से बात करते हैं? क्या आपमें कॉमन सेंस नहीं है?

इसके बाद प्रभाकर कोरे भड़क गए. उन्होंने कहा कि दादागिरी मत करो और मुझे कॉमन सेंस मत सिखाओ. हालांकि इस झगड़े के कुछ ही मिनट के बाद मामला शांत हो गया. सुरेश अंगदी ने प्रभाकर कोरे को खींचकर हाथ से उठा लिया और स्टेज की तरफ ले जाने लगे. उनके ऐसा करने पर प्रभाकर कोरे भी मुस्कुरा दिए. तब कार्यक्रम में मौजूद लोगों ने तालियां बजाकर दोनों का उत्साह बढ़ाया.

First published: 26 December 2018, 16:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी