Home » इंडिया » Two BJP-ruled states are not ready apply Ayushman Bharat National Health Protection Scheme
 

PM मोदी की 'आयुष्मान भारत' योजना लागू करने से दो बीजेपी शासित राज्यों ने खड़े किये हाथ

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 July 2018, 10:57 IST

नरेंद्र मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी आयुषमान भारत राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना (एबी-एनएचपीएस) को दो भाजपा शासित राज्यों राजस्थान और महाराष्ट्र लागू करने के लिए अनिच्छा व्यक्त की है. अख़बार द हिन्दू की एक खबर के अनुसार एक सरकारी अधिकारी के मुताबिक राजस्थान और महाराष्ट्र सरकारें इसी तरह की योजनाएं पहले से चला रही हैं जो अपने राज्यों में बड़ी आबादी को कवर करती हैं.

एबी-एनएचपीएस का उद्देश्य परिवारों को कवरेज प्रदान करना है जिसमे प्रति परिवार 5 लाख सालाना और देश में 10 करोड़ से अधिक गरीब परिवारों को लाभान्वित करना है. अधिकारी ने कहा कि हालांकि राजस्थान सरकार ने केंद्र की योजना का स्वागत किया है, लेकिन वे यह नहीं समझ पा रहे हैं कि इसे कैसे कार्यान्वित किया जाए क्योंकि उनके पास पहले से ही भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना चल रही है, जिसके अंतर्गत लगभग 4.5 करोड़ लोगों को नकद रहित स्वास्थ्य देखभाल सेवाएं प्रदान की जाती हैं."

रिपोर्ट के अनुसार अधिकारी ने कहा कि "इसके अलावा बीमा कंपनी के साथ अनुबंध अगले वर्ष तक है इसलिए वे दोनों योजनाओं को एक करने का तरीका ढूंढने की सोच रहे हैं ताकि पहले से चल रही योजना में कोई रुकावट न आये."

जबकि महाराष्ट्र सरकार ने इस योजना को लागू नहीं करने के के पीछे धन की कमी का हवाला दिया है. राज्य सरकार पहले ही महात्मा ज्योतिबा फुले जन आरोग्य योजना को एक प्रमुख स्वास्थ्य बीमा योजना के रूप में चला रही है. जिसके तहत 2.2 करोड़ लोगों को 2 लाख का कवर दिया जाता है.

इसके अलावा ओडिशा ने केंद्र के प्रमुख स्वास्थ्य कार्यक्रम को लागू करने से इंकार कर दिया है और कहा है कि एबी-एनएचपीएस की तुलना में अधिक लाभार्थियों के साथ पहले से ही बीजू स्वास्थ्य कल्याण योजना है. हालांकि, असहमति के बावजूद पश्चिम बंगाल सरकार इस योजना को अपनाने के लिए सहमत हो गई है. मोदी सरकार 15 अगस्त को पूरे भारत में इस योजना को शुरू करने की योजना बना रही है.

ये भी पढ़ें : एयरफोर्स ने नोटबंदी के बाद नोटों की ढुलाई में खर्च किए 29.41 करोड़- RTI में खुलासा

First published: 9 July 2018, 10:51 IST
 
अगली कहानी