Home » इंडिया » Two british pilot will fly 76 year old fighter plane to travelling 30 countries
 

76 साल पुराने लड़ाकू विमान से उड़ान भरेंगे दो पायलट, चार महीने में करेंगे 30 देशों की यात्रा

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 August 2019, 13:12 IST

द्वितीय विश्व युद्ध में प्रयोग किए गए एक लड़ाकू विमान को दो ब्रिटिश पायलट पहली बार उड़ाने जा रहे हैं. वह दोनों पायलट 76 साल पुराने इस विमान से दुनिया के 30 देशों की उड़ान भरेंगे. इस MkIX स्पिटफायर प्लेन को द्वितीय विश्व युद्ध में इस्तेमाल किया गया था. इस लड़ाकू विमान को ऑक्शन व रेस्टोरेशन के बाद उसमें से बंदूकें व पेंट निकाल कर डी मिलिटराइज कर दिया गया है.

दरअसल, इस लड़ाकू विमान की खूबसूरती और रोचक इतिहास से लोगों को रूबरू कराने के लिए स्टीव बोल्टबी ब्रुक्स और मैट जोनस पहली बार वर्ल्ड टूर पर लेकर जाएंगे. बता दें कि इन दोनों ने दस साल पहले नीलामी में इस विमान को खरीदा था. ये दोनों पायलट 43,500 किमी का सफर 4 महीने में पूरा करेंगे. जिसका समापन यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज सिटी जयपुर में होगा. इस दौरान वो सिल्वर स्पिटफायर को 30 प्रमुख देशों के मशहूर लैंडमार्क्स के ऊपर से उड़ाएंगे. ये दोनों पायलट एक फ्लाइट अकेडमी भी चलाते हैं.

बता दें कि एमटी-719 एयरक्राफ्ट को 93 कोड नंबर के साथ रॉयल इंडियन एयरफोर्स इनवेंटरी में सन् 1947 में ट्रांसफर किया गया था. यह स्पिटफायर जयपुर में 1977 में मिला था जिसपर स्क्वाड्रन लैटर YB-J लिखे थे. उसके बाद जयपुर में एनसीसी द्वारा ग्राउंड इंसट्रक्शनल फ्रेम टी-17 के तौर पर इस्तेमाल किया गया. ऐसा माना जाता है कि इसे फिर भारत सरकार ने 1978 में 7 और स्पिटफायर प्लेन के साथ हेडन बैली को ऑक्शन में बेच दिया गया था. फिलहाल यह यूएसए में N719 MT के नाम से रजिस्टर्ड है.

बता दें कि शॉर्ट रेंज इंटरसेप्टर प्लेन ने 1940 में ब्रिटेन के युद्ध के दौरान जर्मन एयर फोर्स को खदेड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. यह 51 कॉम्बेट मिशन में शामिल रहा था. माना जाता है कि स्पिटफायर ने हिटलर जैसे तानाशाह की भी नींद उड़ा दी थी.

मुंबई की महिला पायलट ने रचा इतिहास, अटलांटिक और प्रशांत महासागर के ऊपर से अकेले भरी उड़ान

First published: 22 August 2019, 13:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी