Home » इंडिया » India 2016: two festivals, three days, six days and 48 incident of communal tension
 

दो धार्मिक मौके, तीन दिन, छह राज्य और साम्प्रदायिक तनाव की 48 घटनाएं

नासिरूद्दीन | Updated on: 17 October 2016, 0:43 IST
QUICK PILL
  • क्या आपने सांप्रदायिकता की ये ख़बरें पढ़ीं, देखीं और जानी हैं? क्या हमें पता है कि दो धार्मिक मौकों पर देश में सांप्रदायिक तनाव के कितने मामले हुए हैं?
  • इन हादसों में एक बच्ची की मौत समेत दर्जनों दुकानों को आग के हवाले किया गया है. इसके अलावा भी दिल दुखाने वाली तमाम वारदातें हुई हैं. 

क्या हम जानते हैं कि देश में पिछले हफ्ते तीन दिनों में कई राज्यों में कई जगहों पर हिन्दू और मुसलमान नाम से जाने जाने वाले दो सम्प्रदाय कितनी बार एक-दूसरे के आमने-सामने आए हैं?

तीन दिनों में दोनों ने एक-दूसरे पर कई जगह पथराव किया. कई घरों और दुकानों को आग के हवाले किया. एक बच्ची जल कर मर गई. एक जख्मी  की मौत हो गई. एक सदमे में गुजर गया. दर्जनों लोग घायल हैं. ढेरों गिरफ्तार हैं. 

दोनों समुदायों के टकराव की ये बातें हमें अलग-अलग माध्यमों से आ रही खबरों से पता चल रही हैं. खास तौर पर उत्तर प्रदेश और बिहार में साम्प्रदायिक तनाव की खबरें बड़े पैमाने पर मिल रही हैं. यूपी के पूर्वी इलाके में तनाव ज्यादा फैला है. वहीं बिहार में अरसे बाद इतनी सारी जगहों से तनाव की खबरें सामने आ रही हैं.

 यूपी में चुनाव होने हैं, इसलिए साम्प्रदायिक तनाव काफी अहम मायने रखते हैं. बिहार में चुनाव हो चुके हैं. इसलिए ऐसा लगता है कि सरकार के निजाम और इकबाल को चुनौती देने के लिए तनाव पैदा करने की कोशिश की गई है. सभी जगहों पर घटना के बाद पुलिस प्रशासन की मुस्तैैदी दिख रही है.

हालांकि तनाव पैदा करने वाले घटना के बाद भी लगातार अशांति पैदा करने की कोशिश में जुटे हैं. ध्यान रहे, ये तीन दिन दशहरा, दुर्गा प्रतिमा विसर्जन और मुहर्रम की दसवीं के मौके थे. नीचे वे घटनाएं हैं जो हमें अलग-अलग जगहों से अलग-अलग माध्यमों और व्यक्तियों से पता चल रही हैं.

उत्तर प्रदेश: 12 अक्टूबर

गोंडा के कोतवाली इलाके में दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान गुड्डूमल चौराहे के पास दोपहर दो बजे के करीब पथराव का आरोप. जुलूस रोक लोग धरने पर बैठ गए. थोड़ी दूर पर एक मस्जिद है. देर शाम में पुलिस के हस्तक्षेप करने पर हंगामा बढ़ गया. जिले के बाकि हिस्सों  में साम्प्रदायिक हिंसा की अफवाह तेजी से फैली. 

हिन्दूवादी संगठनों ने कई जगह प्रदर्शन किया. दुकानें बंद हो गईं. बुधवार को कैसरगंज से भाजपा सांसद बृजभूषण सिंह और गोंडा के भाजपा सांसद कीर्तिवर्धन सिंह कोतवाली में धरने पर बैठे. प्रशासन के साथ बातचीत के बाद गिरफ्तार 17 में से तीन लोगों को छोड़ा गया.

ताजियादारान कमेटी गोंडा ने सुरक्षा का पुख्ताी इंतजाम न होने का हवाला देकर दसवीं मुहर्रम का जुलूस नहीं निकाला.शहरी इलाके में चौकियों पर ताजिए नहीं रखे गए. जुलूस भी नहीं निकाला. गुरुवार 13 अक्टूबर को गोंडा के एक भाजपा नेता को धार्मिक उन्माद भड़काने और दंगा फैलाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया.

मऊ में पहले प्रतिमा और फिर ताजिया तोड़े जाने के आरोप प्रत्यागरोप के बीच तनाव रहा.

अलीगढ़ के जलाली इलाक़े में क़ब्रिस्तान की ज़मीन पर रावण जलाने से पूरे इलाक़े में तनाव फैल गया. लोगों का आरोप है कि पुलिस की मौजूदगी में क़ब्रिस्तान के गेट का ताला तोड़ा गया और रावण दहन किया गया.

मुरादाबाद में बिलारी इलाके में मुहर्रम के दौरान एक खास जुलूस को निकालने के मुद्दे पर तनाव हो गया. मंगल की रात से शुरू हुआ तनाव बुधवार और गुरुवार को बढ़ गया. गुरुवार को दोनों पक्षों में मारपीट हुई. कई लोग घायल हैं.

मुरादाबाद के गोविन्द नगर इलाक़े में बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने शस्त्र पूजन किया. इसके बाद हथियार लहराते हुए जमकर फायरिंग की. बजरंग दल के दो कार्यकर्ता गिरफ़्तार किए गए और बाद में इन्हें  छोड़ दिया गया। 

उत्तर प्रदेश: 13/14/15 अक्टूबर

गोंडा के मोतीगंज में गुरुवार को ताजिया का जुलूस जा रहा था. ताजिया गिर गया. उसके बाद टकराव. हालात जल्दी  काबू में पाया गया.

बहराइच के फखरपुर थाना इलाके में गुरुवार को बहेलिया इलाके की मूर्ति का जुलूस जा रहा था.एक इलाके गुम्मा  खां पुरवा के पास एक मस्जिद है. वहां गाना बजाने के मुद्दे पर कुछ विवाद हुआ. आरोप है कि पत्थर चले. मूर्ति खंडित हुई. कुछ घायल हो गए. मकानों और झों‍पड़ियों में आग लगा दी गई. जलने से एक बच्ची की मौत हो गई. दो बच्चों  के लापता होने की खबर है.

प्रशासन के मुताबिक, 34 घर जले. गांव में दोनों समुदाय के लोग रहते हैं. गांव के लोगों का कहना है बाहरी लोग आए थे. उन्होंने ही आगजनी की. 34 लोग पुलिस हिरासत में. हर परिवार को 7900 का मुआवजा दिया गया. मरने वाली बच्ची के परिजनों को सरकार की ओर से चार लाख दिया गया है.

बहराइच में नानापारा में गुरुवार को मूर्ति विसर्जन का जुलूस जा रहा था. किसी ने मांस का टुकड़ा फेंक दिया. जुलूस में जा रहे लोग मूर्ति के साथ धरने पर बैठ गए. दोनों समुदाय के कुछ लोग आगे आए तब जाकर मामला शांत हुआ. फिर मूर्ति विसर्जन के लिए निकली. मांस फेंकने के आरोप में एक शख्स  गिरफ्तार भी हुआ है. 

बहराइच के नवाबगंज इलाके में बुधवार को मोहर्रम के जुलूस के रास्‍ते को लेकर विवाद हुआ था. पथराव भी हुआ. इसके बाद शुक्रवार को इसी इलाके में एक दीवार तोड़ने के मुद्दे पर दोनों समुदाय के लोग आमने-सामने आ गए. पथराव और मारपीट में कई लोगों के जख्मी  होने की खबर है. कुछ लोग इसे मोहर्रम के दिन हुए तनाव से जोड़ कर देख रहे हैं तो कुछ इसे आपसी विवाद मान रहे हैं. 

महाराजगंज के नाथनगर इलाके में शाम में प्रतिमा विसर्जन के दौरान मारपीट, पथराव होने की खबर. विवाद की वजह जुलूस को खास रास्तें से ले जाने की जिद. मारपीट की सूचना के बाद कई इलाकों के लोगों ने प्रतिमाओं को रखकर जाम लगा दिया. डीएम-एसपी के पहुंचने के बाद देर रात विसर्जन हो पाया. चार लोग गिरफ्तार किए गए.

देवरिया के लार कस्बे में जयकारा लगाने के मुद्दे पर विवाद हो गया. पुलिस ने भीड़ को खदेड़ा तो पुलिस पर पथराव हुआ. पूजा समितियां मूर्ति विसर्जन न करने पर अड़ीं.

कुशीनगर के कुबेर स्थान थाना के इलाके में प्रतिमा विसर्जन के जुलूस में शामिल हाथी और रास्ते के मुद्दे पर विवाद, पथराव, फायरिंग, मारपीट. कई लोग घायल. दो की हालत गंभीर. कई दुकान, गोदाम और एक स्कूल जलाया गया. तीन घंटे तक उपद्रवियों ने जमकर हंगामा किया. कुछ लोग हिरासत में लिए गए. 

डीएम-एसपी की मौजूदगी में जुमे की नमाज हुई. शुक्रवार को गांव जा रहे हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया.

बरेली के नवाबगंज में गुरुवार को मुहर्रम के मौके पर ताजिया का जुलूस कर्बला की तरफ जा रहा था. नवाबगंज के पास रास्ते के मुद्दे पर विवाद हो गया. स्थानीय लोगों ने रास्ता  बदलने का दबाव बनाया. खबरों के मुताबिक, जब हजारों लोगों को नवाबगंज के पास कर्बला की ओर जाने से रोक दिया गया तो टकराव हो गया.

सीतापुर के हरगांव के पास मुहर्रम के जुलूस में ताजिया पर पथराव की खबर. लोग आमने-सामने आ गए. पथराव. कई घायल. यहां 14 अक्टूबर को भी मारपीट होने की खबर मिली है.

रायबरेली के डीह क्षेत्र में दुर्गा के प्रतिमा विसर्जन के रास्ते  का विवाद में टकराव.

बलरामपुर में मूर्ति विसर्जन के दौरान भड़काने वाले नारे लगाने का आरोप. कुछ दुकानों और मस्जिद पर रंग डालने की खबर के बाद तनाव. अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग तरीके से नफरत फैलाने की कोशिश. भरत मिलाप के दौरान भी आपत्तिजनक नारे के बाद तनाव हुआ.

बलरामपुर में मुहर्रम के जुलूस में एक झांकी पर एतराज करते हुए तनाव पैदा करने की कोशिश की गई. उस झांकी को राष्ट्रद्रोह की श्रेणी में रखा गया. बलरामपुर में शुक्रवार को भी सोशल मीडिया के जरिए नफरत फैलाने की कोशिश की खबरें आईं.

श्रावस्ती में गुरुवार, 13 अक्टूबर को मूर्ति विसर्जन के जुलूस के रास्ते के लिए तनाव हो गया. इसके बाद पथराव शुरू हो गया. पुलिस ने सख्ती की और 62 लोगों को गिरफ्तार किया. दूसरे दिन शुक्रवार को भाजपा सांसद दद्दन मिश्र भिनगा-बहराइच फोरलेन पर धरने पर बैठ गए. उनका इलजाम था कि पुलिस इकतरफा कार्रवाई कर रही है.

बलिया में मुहर्रम के जुलूस जिस रास्ते से निकलना था, उस रास्ते में दुर्गा पूजा की सजावट के झालर लगे थे. ताजिया निकालने वालों ने झालर हटाने को कहा. दुर्गा पूजा समिति नहीं मानी. इसके बाद मुहर्रम का जुलूस नहीं निकला. दूसरे दिन प्रशासन के समझाने-बुझाने के बाद दोनों पक्ष माने, तब ताजिया उठाया गया. इससे पहले बलिया के ही रेवती इलाके में मूर्ति विसर्जन के दौरान हंगामा और मारपीट की खबर है.

प्रतापगढ़ के कुंडा में ताजिया ले जाने के रास्तों का विवाद के बाद तनाव हुआ है. इसी तरह पीलीभीत, चित्रकूट, बाराबंकी-फैजाबाद, इटावा, सहारनपुर के देवबंदसे भी तनाव की खबरें मिली हैं.

बिहार के कई ज़िलों में तनाव

पूर्वी चम्पारण के मोतिहारी के तिरकोलिया में पूजा पंडाल में 11 अक्टूबर की रात को तोड़फोड की खबर के बाद तनाव पैदा हो गया. लोगों ने मुख्य सड़क जाम कर दिया. जब लोग नहीं हटे तो पुलिस ने लाठीचार्ज किया. थाना इंचार्ज को निलम्बित कर दिया गया है. कई दुकानें जला दी गयीं. अफ़वाहों को रोकने के लिए पुलिस को इंटरनेट सेवा बंद करनी पड़ी. तुरकौलिया के साथ-साथ आस-पास के कई गांवों में तनाव है.

पूर्वी चम्पारण के सुगौली में शुक्रवार को विसर्जन के दौरान हिंसा हुई. खबरों के मुताबिक, डीजे पर नारे लग रहे थे. पटाखे फोड़े जा रहे थे. एक पटाखा किसी के मकान पर गिरा और इसके बाद हंगामा शुरू हो गया. एक और खबर के मुताबिक विसर्जन जुलूस पर पथराव के बाद हंगामा शुरू हुआ. दोनों समुदायों के बीच जमकर पथराव हुआ. फायरिंग की भी सूचना है. दुकान और घर जलाए जाने की खबर है. फोर्स तैनात कर दी गई है. 

पश्चिमी चम्पारण के बेतिया के जमादार टोला के मुहर्रम के अखाड़े के दौरान टकराव हुआ. तनाव और मारपीट की खबर. कई घायल. एक शख्स  की हार्ट अटैक से मौत हो गई. एक घायल के मौत की भी खबर है. इससे तनाव के और बढ़ने की आशंका बढ़ गई है. 

भोजपुर के पीरो में 12 अक्टू्बर को मुहर्रम के जुलूस के दौरान तनाव और पथराव. 13 और 14 को भी हिंसा हुई. ट्रेन पर हमला और यात्रियों की पिटाई की खबर है. इसके बाद भी हालात नहीं सुधरे तो 15 को इंटरनेट बंद किया गया.

सीतामढ़ी के रीगा में मंगल 11 अक्टूिबर को ताजिया चौकी के जुलूस के रास्ते के मुद्दे पर दो समुदायों में झड़प और मारपीट की खबर है. पुलिस के साथ भी बदसुलूकी हुई. सीतामढ़ी में शुक्रवार को हालात में सुधार की खबर है. 

मधेपुरा के बिहारीगंज में मूर्ति विसर्जन के दौरान कुछ लड़कों में मारपीट हो गई है. खबरों के मुताबिक लड़के अलग-अलग सम्प्रदाय के थे. लोगों ने मूर्ति सड़क पर रख दी और प्रदर्शन शुरू कर दिया. प्रदर्शनकारियों ने दो सरकारी अफसरों की गाडि़यां जला दीं. 

इस मारपीट की शुरुआत एक दिन पहले सोमवार को हुई थी.यहां शुक्रवार तक तनाव बरकरार रहने की खबर है. शुक्रवार को पांचवें दिन डीएम ने खुद घूम घूमकर लोगों से दुकानें खोलने की अपील की. हालात सामान्य होने की तरफ. 

गोपालगंज के तुरकाहा में 14 अक्टूवबर को दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के जुलूस पर पथराव और फायरिंग की खबर के बाद तनाव. आगजनी. इंटरनेट सेवा बंद की गई. 15 अक्टूबर को दुकानों में लूटपाट की खबर भी आई.

गया के मानपुर में गुरुवार को मुहर्रम के जुलूस के दौरान छेड़खानी के इलजाम के बाद तनाव पैदा हो गया. औरंगाबाद में भी तनाव की खबर है.

गया में शुक्रवार की देर मुफस्सिल इलाके में एक धर्मस्थल में पथराव और थोड़फोड़ की खबर के बाद शनिवार को दिन तनाव पैदा हो गया. 

सिवान के दरौली, महादेवा और छपरा में भी एक-दो जगह तनाव की खबर है. 

मध्यप्रदेश

धार के पिपल्याम में बुधवार 12 अक्टूूबर की रात मुहर्रम के जुलूस के दौरान दोनों समुदाय आमने सामने आ गए. 10 से ऊपर घायल. इस टकराव में कई मकान, दोपहिया वाहन जलाए गए. गंभीर रूप से घायलों को बड़ौदा भेजा गया है. धार के गंधवानी में भी 12 अक्टूबर पथराव और तोड़फोड़ होने की खबर है. धार के ही धामनोद में गुरुवार 13 अक्टूबर को मोहर्रम के जुलूस के दौरान तनाव हो गया. 

धार के देदला में मंगलवार 11 अक्टूदबर की रात विजय जुलूस के बाद विवाद हुआ. बुधवार को धर्मस्थलों पर पत्थर फेंके गए. मकानों में तोड़फोड़ हुई. खबरों के मुताबिक, धार की घटनाओं के बाद हिन्दू् संगठनों ने जगह-जगह ज्ञापन सौंपे हैं. शनिवार को हिन्दू जागरण मंच की ओर से धार बंद करने की भी खबर है. 

झाबुआ के पेटलवाद में मुहर्रम का जुलूस निकलने से रोकने की खबर के बाद तनाव पैदा हो गया. एक दुकान में आग लगा दी गई. पुलिस पर आरोप है कि आरएसएस के पदाधिकारियों से उसने मारपीट की. गुरुवार को पेटलवाद बंद भी रखा गया. 

बड़वानी के अंजड़ में बुधवार 12 अक्टूबर को मुहर्रम के जुलूस के दौरान विवाद. 

देवास के भौंरासा में बुधवार 12 अक्टूबर को मूर्ति विसर्जन के दौरान विवाद और इसके बाद पथराव होने की खबर है. 

पश्चिम बंगाल भी पीछे नहीं

बंगाल के कई जिलों में भी साम्‍प्रदायिक तनाव की खबरें हैं. खासतौर पर खड़गपुर, हुगली, उत्‍तरी 24 परगना जिलों में दुर्गा पूजा और मुहर्रम के दौरान 11 और 12 अक्‍टूबर को कई जगहों पर झड़प, आगजनी की खबरें हैं. खबरों के मुताबिक, खड़गपुर में 12 तारीख को अफवाह फैल गई कि किसी ने मुहर्रम के जुलूस पर बम फेंक दिया है. इसके बाद हालात बेकाबू हो गए. कुछ दुकानों में तोड़फोड़ की गई. कई घायल हुए हैं.

महाराष्ट्र

महाराष्ट्र के ठाणे के भिवंडी में मुहर्रम के जुलूस के दौरान साम्प्रदायिक टकराव. नवरात्र के दौरान कुछ गेट बने थे. खबर के मुताबिक, मुहर्रम के जुलूस के दौरान इसे कुछ नुकसान हो गया. इसके बाद दोनों समुदायों के लोग आमने-सामने आ गए. पथराव हुआ.  बाद में गेट के नुकसान का वीडियो सोशल मीडिया पर साझा हुआ तो तनाव और बढ़ गया. कुछ लोग घायल भी हुए हैं.

कर्नाटक

कर्नाटक के बेलगावी के शेट्टी गली में मंगलवार की रात एक जगह हरा झंडा फहराने के बाद विवाद हो गया. विवाद बढ़ते-बढ़ते टकराव में बदल गया. दोनों समुदायों के लोगों ने एक-दूसरे पर पथराव किया. कई लोग घायल हुए. कई गाडि़यों को नुकसान पहुंचा.

First published: 17 October 2016, 0:43 IST
 
नासिरूद्दीन @CatchHindi

वरिष्ठ पत्रकार

पिछली कहानी
अगली कहानी