Home » इंडिया » Two terrorists killed in an encounter at Bandzoo area of Pulwama one CRPF personnel martyr
 

जम्मू-कश्मीर: पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक जवान शहीद, दो आतंकी किए ढेर

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2020, 9:09 IST

Pulwama Encounter: जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में आतंकियों (Terrorist) के खिलाफ सुरक्षाबलों (Security Forces) का अभियान (Operation) जारी है. मंगलवार को एक बार फिर सुरक्षाबलों और आतंकियों का आमना-सामना हो गया. इस बार पुलवामा जिले (Pulwama District) में सुरक्षाबलों और आतंकियों की बीच मुठभेड़ हो गई. जिसमें दो आतंकी मारे गए हैं. हालांकि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) का भी एक जवान शहीद हो गया है. जानकारी के मुताबिक, मंगलवार सुबह (Tuesday Morning) पुलवामा जिले के बंदजू इलाके (Bandzoo Area) में आतंकियों के खिलाफ चल रहे ऑपरेशन में भारतीय जवानों ने दो आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया.

इस दौरान सीआरपीएफ का एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया. जवान को अस्पताल पहुंचाया गया, लेकिन गंभीर चोटों के चलते उन्हें नहीं बचाया जा सका और वह देश की सेवा करते हुए शहीद हो गए. मारे गए आतंकियों के पास से दो एके-47 भी बरामद हुई है. जम्मू-कश्मीर पुलिस ने जानकारी दी है कि सुरक्षाबल अभी भी इस इलाके में सर्च ऑपरेशन चला रहा हैं.


चीनी सेना से झड़प में शहीद कर्नल संतोष बाबू की पत्नी बनीं डिप्टी कलक्टर, सरकार ने दिए 5 करोड़

भारत ने चीन को दिया बहुत बड़ा झटका, 5000 करोड़ रुपये की परियोजनाओं पर लगाई रोक

बता दें कि इससे पहले सोमवार को भी आतंकियों ने पुलवामा जिले के त्राल में सीआरपीएफ के कैंप के पास एक ग्रेनेड से हमला किया था. इस दौरान आतंकियों ने कैंप पर जमकर गोलीबारी भी की. उसके बाद सुरक्षाबलों ने आतंकियों को पकड़ने के लिए घेराबंदी कर सर्च ऑपरेशन चलाया. गौरतलब है कि पिछले एक महीने से जम्मू-कश्मीर के अलग-अलग इलाकों में सुरक्षाबल आए दिन आतंकियों को मौत के घाट उतार रहे हैं. पिछले करीब 25 दिनों में भारतीय जवानों ने 30 से ज्यादा आतंकियों को मार गिराया है. जिसके चलते आतंकवादी बौखला गए हैं और सुरक्षाबलों को लगातार निशाना बनाने की कोशिश कर रहे हैं.

कोरोना वायरस: दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री को जनरल वार्ड में किया गया शिफ्ट, हटाई गई ऑक्सीजन

कोरोना वायरस का कहर जारी, दुनियाभर में 4.74 लाख से ज्यादा लोगों की मौत, 91 लाख संक्रमित

जानकारी के मुताबिक, भारतीय जवानों ने इस साल अब तक घाटी में 36 ऑपरेशन चलाए हैं. जिसमें 92 आतंकी मारे जा चुके हैं. जबकि इनके 126 से ज्यादा मददगार भी गिरफ्तार किए हैं. वहीं साल 2019 में 150 से अधिक और 2018 में 250 से अधिक आतंकियों को मौत के घाट उतारा था. इस साल मारे गए 92 आतंकियों मे केवल 35 हिजबुल के ही हैं. संगठन के ऑपरेशनल प्रमुख कमांडर रियाज नायकू समेत कई कमांडरों को भी मारा जा चुका है.

IT प्रोफेशनल्स को ट्रंप ने दिया बड़ा झटका, इस साल के अंत तक H-1B वीजा सस्पेंड

First published: 23 June 2020, 9:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी