Home » इंडिया » Uma Bharti angry with yoga guru Baba Ramdev comparison to Nitin Gadkari fires letter
 

रामदेव पर भड़कीं उमा भारती, कहा- चालाकी, चापलूसी और साजिश मुझे नहीं आती

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 July 2018, 13:34 IST

योग गुरु बाबा रामदेव और मोदी सरकार में केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. उमा भारती बाबा रामदेव से नाराज हो गई हैं. उमा भारती ने बाबा रामदेव को पत्र लिखा है और अपनी नाराजगी जाहिर की है. उन्होंने कहा कि उनके मुंह से निकला ऐसा कोई भी जुमला उन्हें हानि पहुंचा सकता है.

 

दरअसल, बीते दिनों लंदन में एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में बाबा रामदेव ने गंगा की सफाई पर असंतोष जताया था और उमा भारती की आलोचना की थी. इसके अलावा नितिन गडकरी की तारीफ की थी. उन्होंने उस दौरान दोनों मंत्रियों के कामों की तुलना करते हुए कहा था कि आज भी गंगा दूषित ही है. बाबा रामदेव ने कहा कि गंगा पर काम तो हुआ है, लेकिन उतना नहीं जितना होना चाहिए.

 

इसी के खिलाफ उमा भारती ने लेटर लिखा है. इसमें उन्होंने लिखा है कि इस योजना में शुरू से ही नितिन जी भागीदार रहे हैं. अब वे मेरी भी भागीदारी सुनिश्चित करते हैं. गंगा पर पहले जो हुआ उसमें उनकी भूमिका थी, अब जो हो रहा उसमें मेरी भूमिका है. इसमें तुलना नहीं हो सकती. पहले प्लानिंग की स्टेज थी और अब क्रियान्वयन की स्टेज है. 2019 तक गंगा के संबंध में प्रधानमंत्री जी संकल्प पूरा कर देंगे.

 

उमा ने लिखा, "मैं स्वयं भी नितिन गडकरी जी की प्रशंसक हूं. पूरी दुनिया के सामने लंदन से किसी टीवी चैनल पर मेरे बारे में चर्चा करते समय शायद यह आपको ध्यान नहीं रहा कि आप मुझे निजी तौर पर आहत और मेरे आत्मसम्मान पर आघात कर रहे हैं."

उन्होंने लिखा कि आठ साल की उम्र से अभी तक इन 50 सालों में घोर परिश्रम, विचारनिष्ठा और राष्ट्रवाद मेरी शक्ति रही है. मेरी विश्ववसनीयता के यही आधार रहे हैं. इसी से देश की राजनीति में, भाजपा और संगठन में मुझे उचित स्थान मिले. मुझे न चालाकी, चापलूसी और न साजिश ही साजिश आती है. इसके बिना ही मेरा काम चल गया और आगे भी चल जाएगा.

First published: 2 July 2018, 12:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी