Home » इंडिया » Underworld Don Dawood Ibrahim aid Danish Ali extradition from America
 

मोदी सरकार को बड़ी कामयाबी, दाऊद इब्राहिम का करीबी दानिश आया गिरफ्त में

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 January 2019, 13:10 IST

केंद्र की मोदी सरकार को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. मोदी सरकार ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के खासम-खास दानिश अली का अमेरिका से प्रत्यर्पण कर उसे कब्जे में ले लिया है. दानिश अली को मुंबई क्राइम ब्रांच ने जालसाजी के आरोप में गिरफ्तार किया है. 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, दाऊद इब्राहिम के करीबी सहयोगी दानिश अली को करीब बीस दिन पहले भारत प्रत्यर्पित किया गया है. वह अमेरिका में ड्रग तस्करी और हथियार आपूर्ति मामले में सजायाफ्ता था. सरकार ने सुरक्षा कारणों से इस जानकारी को गुप्त रखा गया था.

पढ़ें- 'सवर्ण जातियों को 10 फीसदी आरक्षण देना मोदी सरकार का 56 इंची फैसला'

वहीं अब अधिकारी दाऊद के दूसरे करीबी सोहेल कास्कर को भारत लाने की कोशिश कर रहे हैं. वह भी अमेरिका में रहता है. भारतीय अधिकारी अभी भी उसे राजनयिक चैनलों के माध्यम से प्रत्यर्पित करवाने की कोशिश में जुटे हैं.

बता दें कि दानिश मूल रूप से दिल्ली के जामा मस्जिद इलाके का रहने वाला है. उसका परिवार आर्थिक रूप से बहुत ही कमजोर है. दानिश अली को भारत लाने के बाद अधिकारी लगातार उससे पूछताछ कर रहे हैं. अब उसे दिल्ली स्पेशल सेल को सौंपा जाएगा. क्योंकि उसके खिलाफ दिल्ली में कई मामले दर्ज हैं.

पढ़ें- मोदी सरकार का बड़ा चुनावी दांव, सवर्ण जातियों को 10 फीसदी आरक्षण की मंजूरी

भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को उम्मीद है कि दाऊद के करीबी होने के कारण दानिश अली से पूछताछ के दौरान सोहेल कासकर और गैंग से जुड़ी काफी अहम जानकारियां मिल सकेंगी. इसके साथ ही गिरोह के अंतरराष्ट्रीय अभियानों और उनके दूसरे सहयोगियों के बारे में भी अहम जानकारी मिलेगी.

First published: 8 January 2019, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी