Home » इंडिया » underworld don dawood ibrahim and his D company frightened after amit shah becoming home minister
 

अमित शाह के गृह मंत्री बनते ही 'D कंपनी' में मची खलबली, दाऊद ने गुर्गों से कहा चौकन्ना रहो और भागो !

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 June 2019, 18:10 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सत्ता में वापसी से पाकिस्तान की परस्ती में छिपा अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. ख़बरों की मानें तो भारत सरकार दाऊद पर कोई बड़ा एक्शन लेने से गुरेज नहीं करेगी. लेकिन अमित शाह के गृहमंत्री बनने के बाद दाऊद और डी कंपनी में भी खलबली मच चुकी है. अमित शाह को काफी सख्त प्रशासक माना जाता है. शाह जब गुजरात के गृह मंत्री बने थे तो वहां माफिया और अंडरवर्ल्ड पर ठोस कार्रवाई की गई थी.

विश्वसनीय सूत्रों का दावा है कि खुफिया जानकारी के मुताबिक दाऊद और उसके गुर्गों को अब इस बात का डर सता रहा है कि अब गृह मंत्रालय में गैंग की पुरानी फाइलें ना सिर्फ दुबारा खुल सकती हैं बल्कि उन पर तेजी से एक्शन भी शुरू हो सकती है. गौरतलब है कि अब भी दाऊद के गुर्गे देश-विदेश में मौजूद हैं और उनका बड़ा नेटवर्क अभी भी ड्रग्स, फेक करंसी, सट्टा बाजार और अवैध हथियार सहित कई तरह के गोरखधंधे में लिप्त है.

जी-न्यूज वेबसाइट ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि डी कंपनी के डर का खुलासा तब हुआ जब खुफिया एजेंसियों को जानकारी मिली कि दाऊद के बेहद करीबी छोटा शकील ने हाल ही में एक अज्ञात ठिकाने पर अपने खास गुर्गों की के साथ बैठक की थी. छोटा शकील ने इंटरनेट बेस्ड कॉन्फ्रेंस कॉल के जरिए दुनिया भर में फैले गुर्गों से भी फोन पर बातचीत की.

दाऊद ने गुर्गों को दी चेतावनी

सूत्रों ने दावा किया है कि दाऊद के निर्देश पर छोटा शकील ने भारत में उसके कारोबार संभाल रहे गुर्गों को यह हिदायत दी है कि वे एजेंसियों को लेकर पहले के मुकाबले और भी ज्यादा सतर्क रहे. कारोबार संभालने वाले गुर्गों को तो यहां तक हिदायत दे दी गई कि अगर उन्हें ज्यादा खतरा महसूस हो तो वे भारत छोड़कर थाईलैंड, नेपाल, इंडोनेशिया और दुबई जैसे देशों में कुछ समय के लिए पनाह ले सकते हैं, जहां उनकी हिफाजत की पूरी जिम्मेदारी डी कंपनी की होगी.

First published: 4 June 2019, 16:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी