Home » इंडिया » Union Budget 2019: Now NRI don't have to wait for 180 days for Aadhaar card
 

Union Budget 2019: अब प्रवासियों को नहीं करना होगा आधार कार्ड के लिए लंबा इंतजार

न्यूज एजेंसी | Updated on: 5 July 2019, 19:57 IST

केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय पासपोर्ट धारी अनिवासी भारतीय (एनआरआई) अब 180 दिनों के इंतजार के बगैर आधार कार्ड प्राप्त कर सकते हैं। अब तक देश में कम से कम 180 दिनों तक रहने के बाद अनिवासी भारतीयों को आधार कार्ड मिलता था।

सीतारमण ने संसद में आम बजट पेश करते हुए कहा, "मैं भारतीय पासपोर्ट रखने वाले एनआरआई को देश में पहुंचने पर बिना 180 दिनों का इंतजार किए आधार कार्ड जारी करने के विचार का प्रस्तार रखती हूं।"

आधार (वित्तीय व अन्य सब्सिडी का लक्षित वितरण, लाभ व सेवाएं) अधिनियम 2016 के अनुसार, एक एनआरआई, जो भारत में 182 दिन रहा है, या 12 महीनों से ज्यादा रहा और उसके पास भारतीय पता है, वह आधार के लिए आवेदन कर सकता है।

हालांकि, आधार अधिनियम के अनुसार, एनआरआई को किसी तरह के सत्यापन के लिए आधार प्रस्तुत करने से पूरी तरह छूट है।

मंत्री ने कहा कि सरकार का इरादा अधिक देशों में दूतावास खोलकर विदेशों में भारतीयों को और अधिक सुलभ सार्वजनिक सेवाएं प्रदान करना है।

इस साल चार दूतावास खोलने का प्रस्ताव है।

बीते साल रंवाडा, जिबौती, इक्वेटोरियल गिनी, गिनी गणराज्य और बुरकीना फासो में दूतावास खोले गए।

सीतारमण ने कहा, " भारत के बढ़ते प्रभाव व नेतृत्व को अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में गति देने के लिए सरकार ने विदेशों में भारतीय दूतावास व उच्चायोग खोलने के निर्णय लिए हैं, जहां पर भारत अब तक रेडिजेंट डिप्लोमेटिक मिशन नहीं है। साल 2018 में सरकार ने अफ्रीका में 18 नए भारतीय राजनयिक मिशन खोलने की मंजूरी दी।"

सरकार 17 आइकॉनिक पर्यटन केंद्रों को विश्व स्तरीय गंतव्यों के रूप में विकसित कर रही है, जो अन्य पर्यटन केंद्रों के लिए एक आदर्श केंद्र साबित होंगे।

Budget 2019: मोदी सरकार ने दी गुलामी की परंपरा से मुक्ति, बजट का नाम बदल हिंदी मेें किया 'बही खाता'

First published: 5 July 2019, 19:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी