Home » इंडिया » union minister babul supriyo wants ban to pakistani singer say rahat fateh ali khans voice removed from ishtehaar song
 

बोले बाबुल सुप्रियो- पाकिस्तानी कलाकारों का पाकिस्तानी होना अपराध, बैन किया जाए

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 February 2018, 10:08 IST

मोदी सरकार में मंत्री बाबुल सुप्रियो ने बॉलीवुड में काम कर रहे पाकिस्तानी कलाकारों पर बैन करने के मुद्दे को एक बार फिर हवा दी है. उन्होंने पाकिस्तानी कलाकारों को बैन करने की मांग करते हुए कहा कि राष्ट्र की जिम्मेदारी निभाते हुए ऐसा किया जाना चाहिए.

पश्चिम बंगाल के आसनसोल से सांसद बाबुल सुप्रियो ने शनिवार को बॉलीवुड से पाकिस्तानी कलाकारों को बैन की मांग करते हुए कहा कि पाकिस्तानी कलाकारों का पाकिस्तानी होना ही उनका अपराध है इसलिए उनसे बॉलीवुड को किसी भी तरह का संबंध नहीं रखना चाहिए.

 

इसी कड़ी में उन्होंने ने फिल्म ‘वेलकम टू न्यूयॉर्क’ के निर्माताओं से इसके गाने ‘इश्तेहार’ से पाकिस्तानी गायक राहत फतेह अली खान की आवाज हटाने की मांग की.

दरअसल अभिनेता सलमान खान की फिल्म 'टाइगर जिंदा है’ के गाने दिल दियां गल्ला से भारतीय सिंगर अरिजीत सिंह की आवाज हटवा कर आतिफ असलम से गाना गवाया गया था. अब इस बात की चर्चा है कि ‘वेलकम टू न्यूयॉर्क’ में भी ऐसा ही हो रहा है.

बाबुल सुप्रियों ने शनिवार को कहा, ‘मैं समझ नहीं पा रहा हूं कि जब भारत-पाक के बीच तनाव बढ़ा हुआ है, तो हम सीमा पार टैलेंट क्यों ढूंढ रहे हैं. ऐसा नहीं होना चाहिए कि एफएम पर पाकिस्तानी गायकों के गाने चलें और समाचार चैनलों पर पाकिस्तानी हमले में शहीद जवानों के.’

 

उन्होंने कहा, ‘मुझे आतिफ असलम या राहत से कोई परेशानी नहीं है. परेशानी है उनकी नागरिकता से. बॉलीवुड दुनियाभर में भारत का प्रतिनिधित्व करता है. पाक कलाकारों को बैन कर दुनियाभर में पाकिस्तान द्वारा फैलाए जा रहे आतंकवाद का विरोध करना चाहिए.

बाबुल सुप्रियो ने कहा कि सभी पाकिस्तानी कलाकार बॉलीवुड से शोहरत पाते हैं लेकिन जब भारत में हमले होते हैं तो कभी भी वह पाकिस्तान की निंदा नहीं करते.

First published: 18 February 2018, 10:09 IST
 
अगली कहानी