Home » इंडिया » Union Minister KJ Alphons controversial statement to defence of Aadhaar in kochi
 

मोदी के मंत्री का विवादित बयान, वीजा के लिए नंगा होना ठीक लेकिन आधार से आपत्ति

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 March 2018, 20:17 IST

 केंद्रीय पर्यटन और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अल्फोंस कन्ननथनम एक बार फिर अपने विवादास्पद बयान को लेकर चर्चा में हैं. केंद्रीय मंत्री ने आधार कार्ड को लेकर एक बहुत ही विवादित बयान दिया है. अल्फोंस ने कहा है कि वीजा के लिए नंगे होने में किसी को कोई परेशानी नहीं है लेकिन आधार के लिए बॉयोमीट्रिक्स देने में आपत्ति है. यह बात मोदी सरकार के मंत्री ने केरल के कोच्चि में कही, अल्फोंस यहां आयोजित फ्यूचर ग्लोबल डिजिटल समिट में हिस्सा लेने पहुंचे थे.

इस समारोह के दौरान अल्फोंस ने कहा, "अमेरिकी वीजा के लिए जब हम 10 पन्नों में अपनी निजी जानकारी भरते हैं तो उसमें किसी को परेशानी नहीं है. वीजा के लिए अपने फिंगरप्रिंट्स देने और गोरों के सामने  सामने नंगे होने में भी कोई दिक्कत नहीं होती. लेकिन जब आपकी अपनी भारत सरकार आपका नाम-पता पूछती है तो यह निजता का हनन लगता है. अब इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ही फैसला करेगी."  

ये भी पढ़ें- चाय की कीमत सुनकर हैरान हुए चिदंबरम, ट्वीट करके दी जानकारी

आपका डाटा है बिल्कुल सुरिक्षत , हैकर्स को 13 अरब साल लग जाएंगे डाटा चुराने में

अल्फोंस कन्ननथनम ने कहा कि लोगों को डरने की जरूरत नहीं है आधार डाटा के लीक होने को लेकर आप परेशान न हों. पिछले साढे तीन वर्षों में किसी भी भारतीय के आधार से बॉयोमीट्रिक्स डाटा लीक होने का मामला सामने नहीं आया है. भारत सरकार लोगों के डाटा की हिफाज़त कर रही है और  इसके लिए आधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल कर रहे हैं.

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने आधार डाटा की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट में बताया कि कोई भी हैकर डाटा की चोरी नहीं कर सकता है. डाटा की सुरक्षा के लिए ‘2048-एनक्रिप्शन की’ नामक एप्लीकेशन का प्रयोग किया जा रहा है. जिसके सुरक्षा चक्र को किसी तरह से तोड़ा  नहीं जा सकता. और सुपरकम्पयूटर से इसे हैक करने में हैकर्स को 13 अरब साल लग जाएंगे.

First published: 25 March 2018, 20:10 IST
 
अगली कहानी