Home » इंडिया » Union Minister Uma Bharti said nehru sought rss help in jammu kashmir when pakistan attacked after independence
 

'जम्मू-कश्मीर पर पाकिस्तान ने किया था हमला तो नेहरू ने मांगी थी RSS से मदद'

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 February 2018, 9:40 IST

आर्मी से अच्छा आरएसएस विवाद में कल तक संघ के नेता सफाई दे रहे थे परंतु आज केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने मोहन भागवत के बयान का एक तरह से समर्थन कर फिर से विवाद खड़ा कर दिया है. उन्होंने कहा कि आजादी के बाद पाकिस्तान ने भारत पर अटैक किया था, तो तब के प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने आरएसएस से मदद मांगी थी.

उमा भारती ने दावा किया कि आजादी के कुछ ही समय बाद जब पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर पर हमला किया था तब तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने आरएसएस से मदद मांगी थी. हालांकि, उमा भारती ने भागवत की टिप्पणी पर सीधा-सीधा कुछ कहने से इनकार कर दिया.

 

उन्होंने कहा कि आजादी के बाद कश्मीर के राजा हरि सिंह संधि पर हस्ताक्षर नहीं कर रहे थे और शेख अब्दुल्ला ने हस्ताक्षर करने के लिए उनपर दबाव डाला. उन्होंने कहा, "नेहरू दुविधा में थे और फिर पाकिस्तान ने एकाएक हमला कर दिया और उसके सैनिक उधमपुर की तरफ बढ़ने लगे. उस समय नेहरूजी ने गुरू गोवलकर (तत्कालीन आरएसएस प्रमुख एम एस गोवलकर) आरएसएस के स्वयंसेवकों की मदद मांगी, आरएसएस स्वयंसेवक मदद के लिए जम्मू-कश्मीर गए थे."

बीते रविवार को बिहार के मुज्जफरपुर में स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए मोहन भागवत ने कहा था कि देश को अगर हमारी जरूरत पड़े और हमारा संविधान और कानून इजाजत दे हम तुरंत तैयार हो जाएंगे. स्वयंसेवकों का बखान करते हुए संघ प्रमुख ये भी कह गए कि सेना को तैयार होने में 6-7 महीने लग जाएंगे, लेकिन हम दो से तीन दिन में ही तैयार हो जाएंगे.

कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी लोकसभा में अपने भाषण के दौरान जवाहर लाल नेहरू की कश्मीर नीति पर हमला बोला था. उन्होंने कहा था कि अगर सरदार पटेल देश के प्रधानमंत्री होते तो कश्मीर पाकिस्तान के पास नहीं जाता.

First published: 14 February 2018, 9:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी