Home » इंडिया » Unnao Gangrape: Yogi government takes major action, seven policemen suspended
 

उन्नाव दुष्कर्म मामले पर योगी सरकार ने की बड़ी कार्रवाई, सात पुलिसकर्मियों को किया निलंबित

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 December 2019, 15:22 IST

Unnao Gangrape: उत्तर प्रदेश के उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता को दरिंदों ने जिंदा जलाकर मारने का प्रयास किया था. दिल्ली(Delhi) के सफदरजंग अस्पताल(Safdarjung Hospital) में इलाज के दौरान पीड़िता ने दम तोड़ दिया था. इस मामले पर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार(Yogi Government) ने बड़ी कार्रवाई की है. योगी सरकार ने ढिलाई बरतने के मामले में सात पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है.

प्रशासन ने ढिलाई बरतने के मामले में एक इंस्पेक्टर, दो दारोगा तथा चार सिपाही को निलंबित किया. पुलिस अधीक्षक के अनुसार, इनका निलंबन उन्नाव के थाना बिहार में काम के प्रति लापरवाही बरतने, अपराध नियंत्रण व अभियोगों से संबंधित घटनाओं के प्रति लचर रवैया अपनाने के लिए किया गया.

बिहार थाना के प्रभारी निरीक्षक को सस्पेंड किया गया है. इसके अलावा दारोगा अरविन्द सिंह रघुवंशी, दारोगा श्रीराम तिवारी को भी निलंबित कर दिया गया है. वहीं, आरक्षी अब्दुल वसीम, आरक्षी पंकज यादव, आरक्षी मनोज तथा आरक्षी संदीप कुमार को भी लापरवाही के चलते तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है.

दरअसल, उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता 5 दिसंबर को पैरोकारी के लिए रायबरेली जा रही थी. इस दौरान पांच लोगों ने उस पर पेट्रोल छिड़ककर उसे आग के हवाले कर दिया. पीड़िता को 90 फीसदी जली अवस्था में दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां शुक्रवार रात 11.40 बजे उसकी मौत हो गई. 

उन्नाव रेप: जिंदगी की जंग हार गई बहादुर बेटी, दरिंदों ने जिंदा जलाने का किया था प्रयास

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की मौत, पिता बोले- हैदराबाद एनकाउंटर की तरह दरिंदों को मिले सजा

First published: 9 December 2019, 14:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी