Home » इंडिया » Unnao: NHRC issues notice to Yogi Govt over the death of a person in judicial custody
 

उन्नाव गैंगरेप केस: पुलिस कस्टडी में मौत पर मानवाधिकार आयोग ने योगी सरकार को भेजा नोटिस

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 April 2018, 15:54 IST

यूपी के उन्नाव गैंगरेप केस में पीड़िता के पिता की पुलिस कस्टडी में मौत को लेकर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने योगी सरकार को नोटिस जारी किया है. मृतक की उम्र करीब 50 वर्ष थी. मृतक के परिजनों ने बलात्कार के आरोपी बांगरमऊ से भाजपा विधायक सेंगर पर जेल में हत्या कराने का आरोप लगाया है.

परिवार का आरोप है कि मुकदमा वापस ना लेने पर पिछले 4 अप्रैल को विधायक के भाई अतुल सिंह ने पीड़िता के पिता को मारापीटा था. पुलिस ने इसका मुकदमा दर्ज करने के बजाय उसे ही जेल भेज दिया था.

गौरतलब है कि उन्नाव की रहने वाली 18 वर्षीय एक युवती ने बांगरमऊ से भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर और उनके भाइयों पर पिछले साल गैंगरेप का आरोप लगाया था. इसके बाद कुछ दिनों पहले महिला ने लखनऊ में सीएम आवास के सामने अपने परिवार सहित आत्मदाह का प्रयास किया था. इसके बाद पीड़िता के पिता को यूपी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. पीड़िता के पिता की संदिग्ध अवस्था में पुलिस कस्टडी में मौत हो गई थी. 

वहीं पीड़िता के पिता के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बेहद खौफनाक खुलासे हुए हैं. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार पीड़ित के पिता को बुरी तरह मारा-पीटा गया था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में शरीर के 14 जगहों पर गंभीर चोट के निशान पाए गए हैं. रिपोर्ट में पाया गया कि चोट की वजह से अंदर के कुछ अंग फट गए थे.

रिपोर्ट के अनुसार, पिटाई की चोट की वजह से खून का रिसाव होने लगा और सेप्टीसीमिया की वजह से पीड़ित के पिता की मौत हो गई. 

इससे पहले पीड़िता के पिता को आर्म्स एक्ट और मारपीट के आरोप में जेल में बंद कर दिया गया था. उन्नाव जेल प्रशासन के मुताबिक, देर रात उसके पेट में दर्द उठा जिसके बाद उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई. इलाज करने वाले डॉक्टर का कहना था कि मरीज़ को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था, उसे पेट में दर्द और खून की उल्टियां हो रही थीं.

First published: 10 April 2018, 15:53 IST
 
अगली कहानी