Home » इंडिया » Unnao rape case: Big revelation about truck hit by CCTV footage
 

उन्नाव रेप केस : CCTV फुटेज से हुआ टक्कर मारने वाले ट्रक को लेकर बड़ा खुलासा

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 August 2019, 7:43 IST

 28 जुलाई को उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले में उन्नाव बलात्कार शिकायतकर्ता की कार को टक्कर मारने वाले ट्रक में तब काले रंग की नंबर प्लेट नहीं थी, जब वह जिले के लालगंज इलाके में एक टोल प्लाजा से गुजरा था. टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार यह लालगंज गुरबख्शगंज में कार दुर्घटना स्थल से लगभग 20 किलोमीटर दूर है. सीसीटीवी फुटेज में ट्रक लगभग 5.20 बजे रायबरेली में दाखिल हुआ. जबकि कार दुर्घटना दोपहर के करीब 12.40 बजे हुई.

फुटेज में वाहन का पंजीकरण नंबर कथित तौर पर दिखाई दे रहा था. हालांकि टक्कर के दौरान नंबर प्लेट को काला कर दिया गया था. ट्रक के मालिक, देवेंद्र सिंह ने दावा किया है कि उन्होंने नंबर को काला किया था क्योंकि उन्होंने निजी फाइनेंसर से लोन पर ट्रक खरीदा था और वह उसे चुकाने में असमर्थ थे. रायबरेली के पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार सिंह ने कहा, "यह स्पष्ट होता है कि ट्रक चालक ने टोल प्लाजा से गुजरने के बाद नंबर प्लेट पर ग्रीस लगाई.

 

फतेहपुर के लिए जाने से लगभग 30 किमी पहले राजघाट क्षेत्र के सोहराब में एक निर्माण सामग्री के आउटलेट पर ट्रक ने एक रेत की खेप पहुंचाई. सिंह ने कहा, "ड्राइवर ने फतेहपुर लौटते समय प्लेट पर ग्रीस लगा दिया होगा. ड्राइवर और क्लीनर को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. अब यह मामला सीबीआई के पास है. द टेलीग्राफ की रिपोर्ट के अनुसार एक उधार फर्म की कानपुर शाखा में एक संग्रह प्रबंधक ने ट्रक मालिक के दावों पर सवाल उठाया और कहा कि वह अपना ऋण समय पर चुका रहा था.

उसने कहा "हमने देवेंद्र किशोर के ट्रकों में से तीन को फाइनेंस किया था. ट्रक मालिक और विधायक कुलदीप सिंह सेंगर दोनों के परिवार फतेहपुर जिले के हैं. देवेंद्र सिंह के बिजनेस पार्टनर और बड़े भाई नंद किशोर ने अखबार को बताया कि वह 2011 तक समाजवादी पार्टी के जिला सचिव थे. सेंगर 2007 से 2017 तक विपक्षी दल के विधायक थे.

इससे पहले सीबीआई ने कहा कि उसने कार दुर्घटना के मामले की जांच के लिए 20 सदस्यीय अतिरिक्त विशेष टीम का गठन किया था. जांच एजेंसी के प्रवक्ता ने कहा कि केंद्रीय फोरेंसिक साइंसेज लेबरटोरेट्री के छह शीर्ष विशेषज्ञ पूछताछ करने के लिए पहले ही घटना स्थल पर पहुंच गए थे.

First published: 3 August 2019, 13:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी