Home » इंडिया » Unnao rape case today supreme court to hear Unnao rape case’s victims letter
 

उन्नाव रेप कांड: पीड़िता की चिट्ठी पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 August 2019, 8:28 IST

उन्नाव रेप की पीड़िता सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल होने के बाद अभी भी जिंदगी और मौत से जूझ रही है. इसी बीच सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश ने पीड़िता द्वारा शीर्ष कोर्ट को लिखे गए उस पत्र पर नाराजगी जाहिर की हो जो उन्हें देरी से मिला. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की पीठ ने इस मामले में स्वतः संज्ञान लिया और सुप्रीम कोर्ट के सेक्रेटरी जनरल से रिपोर्ट मांगी. जिसमें पूछा गया है कि पीड़िता द्वारा लिखा गया ये पत्र आखिर हम तक पहुंचने में देरी क्यों हो गई?

जस्टिस गोगोई ने रजिस्ट्रार से पूछा कि 12 जुलाई को लिखी गई चिट्ठी मंगलवार दोपहर तक उनके सामने क्यों पेश नहीं की गईबता दें कि उन्नाव रेप कांड की पीड़िता और उनके वकील रायबरेली में एक सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गए. इस हादसे में पीड़िता की चाची और मौसी की मौके पर ही मौत हो गई. वहीं पीड़िता और वकील वेंटीलेटर पर हैं. दोनों को अभी भी होश नहीं आया है.

डॉक्टर के मुताबिक पीड़िता के शरीर की कई हड़्डियां टूटी हैं. साथ ही सीने में भी चोट लगी है और फेफड़े में चोट से ब्लीडिंग हुई है. इसके अलावा पीड़िता के दाहिनी तरफ का कॉलर बोन टूट गया है. वहीं पीड़िता के वकील की हालत भी गंभीर है. जिसके चलते इस बात की भी मांग लगातार की जा रही हैं कि दोनों को एयरलिफ्ट कर इलाज के लिए दिल्ली लाया जाए.

सुप्रीम कोर्ट को पीड़िता की चिट्ठी मिलने के बाद शीर्ष कोर्ट बुधवार को इस मामले की सुनवाई करेगा. स्वतः संज्ञान लेते हुए सीजेआई ने कहा कि मीडिया में रिपोर्ट्स हैं कि मैंने चिट्ठी पर कोई कार्रवाई नहीं की, जबकि ये चिट्ठी मुझे मिली ही नहीं. सीजेआई के अलावा पीड़ित परिवार ने अपनी जान की सुरक्षा के लिए कुल 33 चिट्ठियां लिखीं.

प्रधानमंत्री मोदी के अलावा सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायधीश, हाईकोर्ट के मुख्य न्यायधीश, मुख्यमंत्री, गृह सचिव, डीजीपी, उन्नाव के डीएम, उन्नाव के एसपी शामिल हैं. 33 चिट्ठिओं के बाद भी पीड़िता की सुरक्षा के लिए कहीं मदद का कोई हाथ नहीं उठा.

वहीं पीड़िता के साथ हुए सड़क हादसे में सीबीआई ने नई एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. बुधवार को सीबीआई ने घटनास्थल पहुंचकर मुआयना किया. सीबीआई की इस टीम में तीन सदस्य शामिल हैं.सीबीआई ने जेल में बंद विधायक कुलदीप सेंगर, उसके भाई समेत 11 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. कुलदीप सेंगर के खिलाफ हत्या और आपराधिक षडयंत्र का केस दर्ज किया है.साथ ही 20-25 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया है.

कांग्रेस को झटका देकर पत्नी संग BJP में शामिल हुए दिग्गज नेता संजय सिंह

First published: 1 August 2019, 8:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी