Home » इंडिया » UP BJP lady MLA manisha anuragi entered a temple and people clean it with ganga jal as it was apavitra
 

BJP की महिला विधायक के पूजा करने से अपवित्र हुआ मंदिर, गंगाजल से धोकर किया शुद्ध

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 July 2018, 9:43 IST

देश में महिला उत्थान और सम्मान की चाहें जितनी भी बातें हो लें लेकिन वो सब सेमिनारों, अखबारों के सम्पादकीय और किताबों तक ही रह जाती हैं. जमीनी स्तर पर आज भी महिलाओं के लिए राह बहुत कठिन है. पढ़े लिखे होने के बाद भी महिलाओं के प्रति घृणित मानसिकता ख़त्म नहीं होती है.

उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड में रूढ़िवाद की ऐसी ही एक घटना सामने आई है. हमीरपुर जिले में आज भी महिलाओं का मंदिर में प्रवेश वर्जित है. यहां के धूम्र ऋषि आश्रम में महिलाओं को 21वीं सदी में भी पूजा और दर्शन करना वर्जित है.

हैरानी की बात ये है कि जहां कहा जाता है कि महिलाएं पढ़ लिख कर मुकाम हासिल कर लें तो उनके साथ ऐसे भेदभाव नहीं होंगे. लेकिन इसी जिले की भाजपा की एक महिला विधायक मनीषा अनुरागी के एक प्राचीन मंदिर में प्रवेश करने को लेकर बवाल हो गया. स्थानीय ग्रामीणों के अनुसार वहां महिलाओं का प्रवेश वर्जित है. ऐसे में जब महिला विधायक ने प्रवेश करके पूजा करी तो बखेड़ा खड़ा हो गया.

समाचार एजेंसी IANS के अनुसार, ग्रामीणों का कहना है कि मंदिर में स्थापित धूम्र ऋषि बाल ब्रह्मचारी थे और इसीलिए महिलाओं का प्रवेश वर्जित है. गांव वालों ने कहा की मंदिर के बाहर स्त्रियां पूजा करती हैं.  विधायक के अंदर जाने से भगवान नाराज हैं इसीलिए यहां बारिश नहीं हुई. और गांव वालों के ऊपर आफत टूट पड़ी है.

ग्राम प्रधान ओमप्रकाश सिंह ने बताया, "धूम्र ऋषि के आश्रम में महिलाओं का प्रवेश सदियों से वर्जित रहा है, लेकिन भाजपा विधायक मनीषा अनुरागी ने ग्रामीणों के मना करने के बावजूद 12 जुलाई को धूम्र ऋषि के आश्रम में अंदर घुस कर पूजा और दर्शन किए."

 

आगे उन्होंने बताया की इस घटना पर पंचायत के फैसले के बाद पूरे आश्रम को गंगा जल से धुला गया. बाद में गांव के लोगों ने धूम्र ऋषि की मूर्ति को फूलों की डोली में इलाहाबाद ले जाकर संगम स्नान भी कराया और हैरानी की बात ये उन्हें चन्दा करना पड़ा. चन्दा करके पैसे इकट्ठे किये और फिर मंदिर ऋषि की मूर्ती का शुद्धिकरण किया गया.

ये भी पढ़ें- राहुल गांधी- सर्वोच्च नेता के लोग राफेल डील कवर कर रहे पत्रकारों को दे रहें है धमकी

गांव वालों ने ये भी तर्क दिया आश्रम में विधायक के घुसने से ऋषि नाराज थे और इसी हो रही थी, लेकिन जब से गंगाजल से सुद्ध किया गया है जोरदार बारिश हो रही है.  इस पूरे मामले में भाजपा विधायक मनीषा अनुरागी ने कहा, "मुझे इस पुरानी परंपरा की कोई जानकारी नहीं दी गई. अगर मैं वहां गई भी हूं तो कुछ गलत नहीं किया है. आधी आबादी हम पर निर्भर है, हम जन्मदात्री और पालनहार हैं. यह कुछ अल्पबुद्धि के लोगों की सोच हो सकती है."

 

First published: 31 July 2018, 9:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी