Home » इंडिया » UP cabinet expansion: Shivpal Yadav likely not to attend oath-taking ceremony to be held in Lucknow today
 

अखिलेश कैबिनेट का विस्तार, समारोह से दूर शिवपाल यादव

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 June 2016, 11:37 IST
(फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आज अखिलेश यादव मंत्रिमंडल का विस्तार हुआ. इससे पहले शनिवार को सपा संसदीय बोर्ड की बैठक के दौरान कैबिनेट विस्तार पर मंथन हुआ था.

कौमी एकता दल विलय के सूत्रधार रहे बर्खास्त मंत्री बलराम यादव की एक बार फिर कैबिनेट में बहाली हो गई है है. संसदीय बोर्ड की बैठक के बाद सपा के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव ने कहा था कि मुख्तार अंसारी और उनकी पार्टी समाजवादी पार्टी में नहीं शामिल होंगे.

माध्यमिक शिक्षा मंत्री बलराम यादव को कौमी एकता दल के विलय के चंद घंटों के अंदर बर्खास्त कर दिया गया था. कैबिनेट मंत्री शिवपाल यादव की मौजूदगी में लखनऊ में कौमी एकता दल का सपा में विलय हुआ था.

बलराम यादव के अलावा बलिया से आने वाले नारद राय की भी मंत्रिपरिषद में वापसी हुई है. अक्टूबर 2015 में अखिलेश यादव मंत्रिमंडल का आखिरी बार विस्तार हुआ था.

समारोह से दूर नाराज शिवपाल

इस बीच यूपी के लोक निर्माण मंत्री और सीएम अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव आज होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में नहीं शामिल हुए.

जहां एक ओर अखिलेश यादव मंत्रिमंडल में पांच नए मंत्री शामिल किए गए, वहीं समारोह स्थल लखनऊ से दूर शिवपाल यादव अपने गृह क्षेत्र इटावा में बने रहे.

माना जा रहा है कौमी एकता दल प्रकरण के बाद अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के बीच सब कुछ ठीक नहीं है. हालांकि दोनों ने बयान दिया था कि इस मामले को लेकर समाजवादी पार्टी में कोई कलह नहीं है.  

विलय पर विवाद

सीएम अखिलेश यादव ने कहा था कि कौमी एकता दल का विलय पार्टी का अंदरूनी मामला है और इस पर पार्टी फोरम में ही चर्चा होगी.

वहीं एक टेलीविजन चैनल के कार्यक्रम में अखिलेश यादव ने साफ किया था कि वे मुख्तार अंसारी को समाजवादी पार्टी में शामिल नहीं होने देंगे.

लखनऊ में पिछले हफ्ते शिवपाल यादव की मौजूदगी में कौमी एकता दल का सपा में विलय हुआ था. इस विलय के बाद सीएम अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के बीच मनमुटाव की खबर थी.

सातवां कैबिनेट विस्तार

यूपी की सवा चार साल पुरानी अखिलेश सरकार का आज सातवां कैबिनेट विस्तार हुआ. पांच नए मंत्रियों को राज्यपाल राम नाईक ने राजधानी लखनऊ में हुए समारोह के दौरान पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 31 अक्टूबर, 2015 को अपने मंत्रिमंडल का आखिरी विस्तार किया था. गौरतलब है कि अगले ही साल यूपी में विधानसभा चुनाव होने हैं. इन बदलावों को चुनाव से जोड़ कर भी देखा जा रहा है.

First published: 27 June 2016, 11:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी