Home » इंडिया » UP: Now adultury racket run in Deoria many girls rescued from private girls shelter home
 

यूपी: देवरिया में भी मुजफ्फरपुर शेल्टर होम जैसा मामला, लग्जरी गाड़ियों में लोग आते और लड़कियों को ले जाते

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 August 2018, 12:24 IST
(File photo)

यूपी के देवरिया में भी मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप केस जैसा मामला सामने आया है. यहां के एक प्राइवेट बालिका गृह में रविवार रात छापा मारकर पुलिस ने 24 बच्चियों और लड़कियों को छुड़ाया है. हालांकि अभी भी 18 लड़कियां गायब हैं. पुलिस ने बालिका गृह के संचालिका गिरिजा त्रिपाठी, उनके पति मोहन तिवारी और बेटी को गिरफ्तार किया है.

देवरिया के मां विंध्यवासिनी बालिका गृह में चल रहे देह व्यापार का खुलासा वहीं रहने वाली एक लड़की ने किया है. 10 साल की मासूम ने जो कुछ भी पुलिस को बताया, वो होश उड़ा देने वाला था. रविवार शाम को यह मासूम किसी तरह महिला थाने पहुंची और शेल्टर होम में चल रही करतूत का खुलासा किया. 

 

बच्ची ने पुलिस को बताया कि रोज शाम चार बजे बड़ी-बड़ी गाड़ियों में लोग आते थे और 15 साल के ऊपर की लड़कियों को ले जाते थे. मासूम ने बताया कि सुबह जब लड़कियां आती थीं तो वे कुछ नहीं बोलती थीं. बस वे रो रही होती थीं. बच्ची ने बताया कि इसके अलावा उन्हें दूसरे के घरों में झाड़ू-पोछा जैसे तमाम घरेलू कामों के लिए भी भेजा जाता था.

बता दें कि मां विंध्यवासिनी बालिका गृह पिछले कई सालों से शहर के रेलवे स्टेशन रोड से चल रहा था. इसकी एक शाखा शहर के रजला गांव में भी थी. इस संस्था की मान्यता एक साल पहले 2017 में स्थगित हो चुकी थी. उस समय सीबीआई ने इसकी जांच की थी. हालांकि संरक्षक गिरजा त्रिपाठी ने अपने ऊंची रसूख का फायदा उठाकर मान्यता रद्द होने के बाद भी लड़कियां रखती थी. कोई अधिकारी इन पर हाथ डालने से कतराता था.

पढ़ें- मुजफ्फरपुर: स्वाति मालीवाल ने नीतीश को लिखा लेटर- 'नेता हर रोज करते थे रेप'

रविवार को जब मासूम ने संस्था से भागकर पुलिस के पास पहुंच आपबीती बताई तो एसपी रोहन पी कनय ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मामला का खुलासा किया. फिलहाल, पुलिस ने संचालिका गिरिजा त्रिपाठी और पति मोहन को गिरफ्तार कर लिया है. बेटी कंचन लता त्रिपाठी की तलाश की जा रही है. मामले में पुलिस लड़कियों के बयान के आधार पर मानव तस्करी, देह व्यापार जैसी धाराओं में मुकदमा दर्ज कर रही है. 

First published: 6 August 2018, 12:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी