Home » इंडिया » up: pilibhit court paas order to if any one refuse to accept 10 rs coin, they facing sedition
 

यूपी: पीलीभीत कोर्ट का आदेश, 10 रुपये का सिक्का लेने से मना करने पर चलेगा 'राजद्रोह' का केस

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2017, 8:25 IST
(एजेंसी)

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिला जज ने एक आदेश पारित किया है कि यदि कोई भी शख्स मुद्रा विनिमय में 10 रुपये का सिक्का लेने से इनकार करता है तो उस पर देशद्रोह का केस चल सकता है.

जिला जज ने फैसला सुनाते हुए कहा कि "10 का सिक्का एक राष्ट्रीय मुद्रा है और इसे लेने से इनकार करने का अधिकार किसी नागरिक के पास नहीं हैं. भारतीय सरकार सिक्के की कीमत अदा करने का वचन देती है."

जज ने कहा, "इस लिहाज से किसी के भी द्वारा इसको लिए जाने से इनकार करना भारतीय सरकार के नियमों की अवमानना मानी जाएगी. अगर कोई इस तरह का कार्य करता है या सिक्का लेने से इनकार करता है तो वह राजद्रोह का पात्र माना जाएगा."

गौरतलब है कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के नियमों के मुताबिक यदि भारत में निवास करने वाला कोई भी नागरिक राष्ट्रीय करेंसी को लेने से इनकार करता है तो वह भारतीय दंड संहिता की धारा 124A (देशद्रोह) के तहत सजा का हकदार है.

पिछले कुछ समय से यूपी समेत देश के कई हिस्सों में इन अफवाहों के चलते लोगों ने सिक्के लेने बंद कर दिए हैं, जबकि  रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की तरफ से इस मामले में कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है.

बैंक ने साफ शब्दों में कहा था कि 10 के सिक्के न ही बंद हो रहे हैं और न ही नकली हैं. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने यह भी कहा था कि अगर कोई 10 का सिक्का लेने से इनकार करता है तो वह सजा का हकदार है.

First published: 25 September 2016, 12:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी