Home » इंडिया » up police; bareilly rape case allegation false
 

यूपी पुलिस: बरेली में महिला टीचर से नहीं हुआ गैंगरेप, जांच में फर्जी निकला मामला

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 August 2016, 12:06 IST
(कैच)

उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में एक महिला टीचर के साथ ‘कथित सामूहिक बलात्कार’ का मामला यूपी पुलिस की जांच में फर्जी पाया गया है. पुलिस का कहना है कि कथित पीड़िता ने खुद को ‘बचाने’ के लिए झूठी कहानी रची थी.

बरेली रेंज के डीआईजी आशुतोष कुमार ने बताया कि इस संदर्भ में अमित राठौर नामक युवक की गिरफ्तारी के बाद कथित बलात्कार पीड़िता के सामने हुई पूछताछ से पता चला कि राठौर उसका प्रेमी है. दोनों शादी करना चाहते थे, लेकिन लड़की के घरवालों को इस रिश्ते पर कड़ा एतराज था.

डीआईजी ने बताया कि पूछताछ में यह भी पता लगा है कि एक युवक ने टीचर को उसके प्रेमी के साथ आपत्तिजनक हालत में उसकी वीडियो क्लिपिंग बना ली थी.

टीचर ने इस बात को माना कि उसने रेप की झूठी कहानी इसलिए बनाई, क्योंकि उसे डर था कि वह वीडियो क्लिप कहीं उसके भाई और मां न देख लें. अगर उसके घर वालों के सामने वो क्लिप आ जाती, तो इससे सारा भेद खुल जाता.

डीआईजी आशुतोष कुमार ने बताया कि इस केस में टीचर के कथित प्रेमी का नाम नहीं था. जांच के दौरान प्रेमी के बारे में पता लगने पर पुलिस ने उसे हिरासत में लिया और कड़ाई से पूछताछ की तो मामले का खुलासा हुआ.

गौरतलब है कि बरेली के सीबीगंज थाना क्षेत्र में मंगलवार को एक शिक्षिका ने अपहरण और कथित तौर पर सामूहिक रेप का आरोप लगाते हुए तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया था.

टीचर ने आरोप लगाया था कि मथुरापुर से आगे शिव ज्ञान डिग्री कॉलेज के पास कार से आए तीन लोगों ने उसे जबरन कार में डाल लिया और खेत में ले जाकर उससे सामूहिक रेप किया.

इसके साथ उसने यह भी बताया कि आरोपियों ने पूरी घटना की वीडियो क्लिप बनाकर इसे इंटरनेट पर डालने की धमकी दी थी.

इस मामले के बाद अखिलेश सरकार की बहुत किरकिरी हुई थी. विपक्षी दलों ने इस मुद्दे पर आलोचना करते हुए इसे गुंडाराज की पराकाष्ठा कहा था और इस मामले में आरोपियों को पकड़ने और कठोर कार्रवाई की मांग को लेकर क्षेत्रीय बीजेपी एमएलए अरुण कुमार के नेतृत्व में थाने पर धरना भी दिया था.

मामले में विवाद को बढ़ता हुआ देखकर प्रशासन ने सीबीगंज के एसएचओ राकेश सिंह को सस्पेंड कर दिया गया था.

First published: 4 August 2016, 12:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी