Home » इंडिया » UP police will launch Twitter-based grievances redressal service
 

8 सितंबर से आपके एक ट्वीट पर जागेगी यूपी पुलिस, अनूठी पहल करने वाला पहला राज्य

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 September 2016, 15:03 IST
(ट्विटर)

उत्तर प्रदेश पुलिस के सभी थाने आगामी आठ सितम्बर से ‘ट्विटर’ से जुड़ जाएंगे. इसके साथ ही उत्तर प्रदेश हिन्दुस्तान का ऐसा पहला राज्य बन जाएगा, जहां सभी जिलों में पुलिस ट्विटर का इस्तेमाल करेगी.

पुलिस महानिदेशक कार्यालय में तैनात अपर पुलिस अधीक्षक राहुल श्रीवास्तव ने बताया कि ट्विटर इंडिया ने राज्य पुलिस द्वारा ट्विटर के जरिए जनशिकायतों के निस्तारण में उल्लेखनीय सफलता मिलने से उत्साहित होकर प्रदेश के सभी जिलों में पुलिस के लिये ट्विटर सेवा शुरू करने का निर्णय लिया है.

8 सितंबर को शुरुआत

उन्होंने बताया कि इसकी शुरुआत बृहस्पतिवार 8 सितंबर को ट्विटर इंडिया के वाइस प्रेसीडेंट रिषि जेटली एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) राहिल खुर्शीद और सूबे के पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद लखनऊ में करेंगे.

श्रीवास्तव ने बताया कि इसके साथ ही उत्तर प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य बन जाएगा जहां सभी जिलों की पुलिस ट्विटर सेवा का इस्तेमाल करेगी. अभी तक बेंगलुरु शहर पुलिस द्वारा एक सीमित क्षेत्र में यह सेवा शुरू की गयी है.

इसके अलावा यह सेवा विदेश, रेलवे, वाणिज्य तथा पासपोर्ट मंत्रालयों में लागू की गयी है. जनशिकायतों को व्यवस्थित ढंग से निस्तारित करने के लिए यह ट्विटर पर आधारित सीआरएम (कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजमेन्ट) प्लेटफॉर्म है.

श्रीवास्तव ने बताया कि ट्विटर के माध्यम से शिकायतों को सम्बन्धित जिलों में भेजा जायेगा. हर शिकायत का एक कोड होगा, जिसके आधार पर उन पर हो रही कार्यवाही को देखा जा सकेगा. इससे कुछ सेकेंड में पता लगाया जा सकेगा कि किस जिले में इस मुख्यालय से भेजी गयी कितनी शिकायतों का कितने समय में निस्तारण किया गया. साथ ही शिकायतों का जल्द और समयबद्घ निस्तारण करने वाले जिलों को पुरस्कृत भी किया जायेगा.

विज्ञप्ति (यूपी पुलिस ट्विटर)
First published: 7 September 2016, 15:03 IST
 
अगली कहानी