Home » इंडिया » UPSC Final Result 2018 Meet Ritika who selected in IAS with 88th rank in 5th Attempt
 

कैंसर से जूझ रहे पिता की लाडली ने पास की IAS की परीक्षा, हासिल की 88वीं रैंक

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 April 2019, 9:13 IST

जिन्हें कामयाबी हासिल करनी होती है वो किसी परेशानी से नहीं घबराते, ये कहावत पंजाब के मोगा की रहने वाली रितिका ने सिद्ध कर दिखाई. रितिका ने यूपीएसपी की परीक्षा में 88वीं रैंक हासिल की है. वह पंजाब के मोगा की रहने वाली है. उनके पिता कैंसर से जूझ रहे हैं. जिसके चलते उनका परिवार तमाम परेशानियों से जूझ रहा है, लेकिन रितिका ने यूपीएसपी की परीक्षा पास कर एक मिसाल पेश की है कि करने वाला तमाम परेशानियों के बावजूद कुछ भी हासिल कर सकता है.

जब रितिका आईएएस परीक्षा की तैयारी में जुटी थीं तभी उन्हें पता चला कि उनके पिता को कैंसर हो गया है. पिता को इतनी खतरनाक बीमारी हो जाने पर कोई भी बच्चा टूट सकता है, लेकिन रितिक ने हार नहीं मानी और वह लगातार तैयारी करती रहीं. जिसकी बदौलत आज वह यूपीएससी की परीक्षा पास कर सकीं.

 

रितिका ने साल 2014 में सीबीएसई से 12वीं पास कर नॉर्थ इंडिया टॉप किया था. उसके बाद वह ग्रेजुएशन की पढ़ाई के लिए दिल्ली आ गईं और दिल्ली विश्वविद्यालय के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स में एडमिशन ले लिया. यहां भी रितिका ने कामयाबी के झंड़े गाड़े और टॉप किया. जहां उन्हें कॉलेज में अच्छा प्लेसमेंट ऑफर मिला, लेकिन वह आईएएस बनना चाहती थी इसलिए उसे ठुकरा दिया. पहली बार जब उन्हें सफलता नहीं मिली तो तैयारी की गति और बढ़ा दी और दूसरी बार में यूपीएसपी की परीक्षा पास कर ली.

रितिका छठवीं क्लास से ही आईएएस अधिकारी बनना चाहती थी. जब उन्हें ये खबर मिली कि उन्होंने आईएएस की परीक्षा पास कर ली है तब वह डीएमसी में लंग कैंसर का इलाज करा रहे अपने पिता पायलट अमृतपाल के साथ ही मौजूद थीं. रितिका के पिता नेस्ले इंडिया में प्रोडक्ट मैनेजर हैं. रितिका ने जब पहली बार यूपीएससी की परीक्षा दी तो वह इंटरव्यू तक पहुंच गईं थी लेकिन शायद किस्मत में एक साल और इंतजार लिखा था और दूसरी बार में रितिका ने यूपीएसपी की परीक्षा पास ही नहीं की बल्कि अच्छी रैंक भी हासिल की.

कश्मीर की इस बेटी ने आतंकियों के मुंह पर मारा जोरदार थप्पड़, IAS बनकर रचा इतिहास

First published: 8 April 2019, 9:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी