Home » इंडिया » Uttar Pradesh: Akhilesh Yadav says in clear tone will not fill NPR form
 

यूपी: अखिलेश यादव ने साफ लहजों में कहा- नहीं भरेंगे NPR का फॉर्म

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 December 2019, 19:16 IST

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा है कि वो राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर फार्म नहीं भरेंगे. केंद्र की मोदी सरकार ने जब से सदन से सीएए कानून पास कराया है, देश में तब से इसके खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं. प्रदर्शनों में कई जगह हिंसा भी हुई है.

विपक्षी दल सीएए और एनआरसी को भारत को बांटने वाला कानून बता रहे हैं. इस बीच सरकार एनपीआर लेकर आई. सरकार का तर्क है कि इससे सीएए और एनआरसी का कोई लेना देना नहीं है. लेकिन विपक्षी दल इसे भी एनआरसी से जोड़कर देख रहे हैं और इसकी खिलाफत कर रहे हैं.

इसी मुद्दे पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने साफ लहजे में कहा है कि वो एनपीआर के लिए फार्म नहीं भरेंगे. उन्होंने समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं से भी एनपीआर का बहिष्कार करने की अपील की. अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा तय नहीं करेगी कि वह भारतीय हैं या नहीं. उन्होंने कहा कि हम रोजगार चाहते हैं, एनपीआर नहीं.

अखिलेश यादव ने नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों का जिक्र करते हुए कहा कि पुलिस फायरिंग में मारे गए लोगों के लिए सीधे तौर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जिम्मेदार हैं. अखिलेश यादव ने सरकार से पूछा कि हिंसा में मारे गए लोगों के परिवारों को पोस्टमार्टम रिपोर्ट क्यों नहीं दी जा रही है?

उन्होंने कहा कि योगी सरकार नहीं चाहती कि सच्चाई लोगों तक पहुंचे. योगी सरकार जनता में बढ़ते गुस्से से आशंकित है और योगी आदित्यनाथ अपनी कुर्सी बचाने के लिए अन्याय कर रहे हैं. उनके विधायक भी एनपीआर के खिलाफ हैं. सपा जब सत्ता में आएगी तो सीएए प्रदर्शन के पीड़ितों की मदद करेगी.

ख़राब मौसम और बर्फबारी के चलते इंडियन आर्मी ने 1500 यात्रियों को बचाया

2.4 डिग्री सेल्सियस, जीरो विजिबिलिटी के साथ हुई दिल्ली की सुबह, IGI से कई उड़ानों में देरी

First published: 29 December 2019, 19:10 IST
 
अगली कहानी