Home » इंडिया » Uttar Pradesh: CM Yogi Adityanath sanctioned 9.90 lakh rupees for heart surgery of girl student
 

हार्ट पेशेंट छात्रा के लिए भगवान बने CM योगी, सर्जरी के लिए दी 9.90 लाख रूपये की सहायता

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 August 2020, 13:06 IST

Uttar Pradesh: एक गरीब हार्ट पेशेंट छात्रा के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भगवान के रूप में सामने आए. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हृदय की गंभीर बीमारी से पीड़ित बीएड की छात्रा मधुलिका मिश्रा की सर्जरी के लिए 9.90 लाख रूपये की सहायता राशि मंजूर कर एक मिसाल कायम की.

उत्तर प्रदेश के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि गोरखपुर जिले के कैंपियरगंज के मछलीगांव की रहने वाली छात्रा मधुलिका मिश्रा हृदय की गंभीर बीमारी से पीड़ित है. छात्रा के पिता किसान हैं और वह अपनी बेटी की सर्जरी में सक्षम नहीं थे. इसके बाद उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर उनसे सहायता मांगी.

मधुलिका के पिता ने पत्र में बताया कि उसके हृदय के वाल्व में समस्या है, जिसकी सर्जरी की जरूरत है. इसके बाद सीएम योगी ने पिता को वापस पत्र लिखा और कहा कि मेदांता अस्पताल के अनुसार, इस ऑपरेशन में लगभग 9.90 लाख रुपये का खर्चा आएगा. इसलिए ऑपरेशन के लिए मुख्यमंत्री के विवेकाधिकार कोष से 9.90 लाख रूपये मंजूर किये जा रहे हैं.

1 करोड़ किसानों को मोदी सरकार का तोहफा, जानिए अब गन्ना कितने रुपये क्विंटल बिकेगा

सीएम योगी का यह पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. पत्र में लिखा है, "मुझे पता चला है कि आपकी पुत्री कुमारी मधुलिका मिश्रा के हृदय के दोनों वाल्व खराब हो गए हैं, इसकी शल्य चिकित्सा होनी है किंतु धनाभाव के कारण यह संभव नहीं हो पा रहा है. 9.90 लाख रुपये मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से स्वीकृत कर दिए गए हैं. आशा है कि इस धनराशि से मधुलिका की शल्य चिकित्सा सकुशल संपन्न होगी और वह शीघ्र स्वस्थ होकर अपनी आगे की पढ़ाई जारी रख सकेगी."

बता दें कि मधुलिका ने पीएम मोदी और यूपी के सीएम से इलाज में मदद की गुहार लगाई थी. छात्रा ने जानकारी दी कि उसके पिता राकेश चंद्र मिश्र किसान हैं. उसके मां की बचपन में ही मौत हो गई थी. इसके अलावा उसके दो भाई हैं, जो पढ़ाई करने के साथ-साथ खेती में उसके पिता का सहयोग करते हैं.

मधुलिका ने मीडिया के सामने बताया कि कुछ दिनों पहले उसे सांस लेने में तकलीफ हुई. इसके बाद भाई ने गोरखपुर के ही एक निजी अस्पताल में जांच कराई, जहां डॉक्टरों ने बताया कि उसके दिल के दोनों वॉल्व खराब हैं. इसके बाद उसे केजीएमयू और पीजीआई ले जाया गया, जहां कोरोना की वजह से इलाज से मना कर दिया गया. इसके बाद उसे मेदांता में भर्ती कराया गया. डॉक्टरों ने यहां पर बताया कि ऑपरेशन से दोनों वॉल्व बदले जा सकते हैं. इसमें 9.90 लाख रुपये का खर्च आएगा.

Coronavirus : पिछले 24 घंटे में 69,652 नए मामले लेकिन संकेतक बताते हैं भारत में नियंत्रित हो रहा है कोरोना

अब एक परीक्षा देकर मिलेगी सरकारी नौकरी, साल में दो बार होगा एग्जाम, जानिए क्या है नया पैटर्न

First published: 20 August 2020, 12:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी