Home » इंडिया » Uttar Pradesh: Constable fired on the police inspector for not get leave, then shot himself
 

उत्तर प्रदेश: छुट्टी नहीं मिली तो सिपाही ने दारोगा पर की ताबड़तोड़ फायरिंग, फिर खुद को मार ली गोली

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 September 2020, 14:57 IST

Constable Fire on Police Inspector: उत्तर प्रदेश के बदायूं में एक कॉन्सेबल ने अपने सीनियर अधिकारी पर सिर्फ इसलिए दनादन फायर कर दिया क्योंकि उसे छुट्टी नहीं मिली थी. बदायूं के उझानी कोतवाली में तैनात सिपाही ने शुक्रवार दारोगा पर दनादन फायरिंग की. इसके बाद खुद को गोली मार ली.

इस घटना के बाद कोतवाली में हड़कंप मच गया. इसके बाद आनन-फानन में दोनों घायलों को जिला अस्पताल ले जाया गया. वहां से उन्हें बरेली रेफर कर दिया गया.  दारोगा की हालत गंभीर बनी हुई है. जैसे ही सूचना मिली वैसे ही जिले के डीएम और एसपी समेत पुलिस के आला-अधिकारी मौके पर पहुंच गए.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सिपाही ललित ने विभाग में 10 दिन की छुट्टी के लिए आवेदन किया था. लेकिन उसकी मात्र तीन दिन की छुट्टी स्वीकृत हुई. हालांकि वह अभी भी ज्यादा दिन की छुट्टी चाह रहा था. इस बात को लेकर उसकी दारोगा राम औतार से कहासुनी हो गई. यह कहासुनी लड़ाई में बदल गई और सिपाही ललित ने दारोगा को गोली मार दी.

LAC विवाद : लेह पहुंचकर आर्मी चीफ बोले- जवानों का मनोबल ऊंचा, हर चुनौती के लिए तैयार

दरोगा को गोली मारने के बाद उसने खुद को भी गोली मार ली. इसके बाद दोनों घायलों को आनन-फानन में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया. जिलाधिकारी कुमार प्रशांत ने बताया कि छुट्टी को लेकर सिपाही ने दरोगा को गोली मारी. डीएम ने बताया कि पुलिस विभाग में दारोगा के हाथ में केवल 3 दिन की छुट्टी देने की पावर होती है.

डीएम ने बताया कि ज्यादा दिन की छुट्टी देने के लिए सीओ, एडिशनल एसपी या एसएसपी से गुहार लगानी होती है. उन्होंने बताया कि दारोगा की हालत काफी नाजुक बनी हुई है. जबकि सिपाही ललित खतरे से बाहर है. 

मोदी सरकार ने चीन को दिया एक और बड़ा झटका, अब दूसरे देशों के जरिए सामान नहीं भेज पाएगा भारत

रेलवे ने इकलौती महिला सवारी के लिए चलाई राजधानी एक्सप्रेस, 535 किमी चलाकर पहुंचाया रांची

First published: 4 September 2020, 14:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी