Home » इंडिया » Uttar Pradesh: Yogi Adityanath government will be forced to retire the corrupt police personnel
 

नकारा पुलिसकर्मियों को जबरन रिटायर करेगी योगी सरकार, बोले- वर्दी के नाम पर कलंकितों की कोई जगह नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 June 2019, 14:19 IST

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार एक बड़ा फैसला लेने जा रही है. भ्रष्ट और नकारा पुलिस अफसरों और कर्मचारियों के खिलाफ योगी सरकार कड़ा रुख अपनाएगी. योगी सरकार ने फैसला किया है कि 50 वर्ष की आयु पूरी कर चुके नकारी और भ्रष्ट पुलिसकर्मियों को जबरन रिटायर किया जाएगा. इसके लिए एडीजी ने सभी अधिकारियों से स्क्रीनिंग कमेटी की रिपोर्ट मांगी है.

दरअसल, यूपी की सीएम योदी आदित्यनाथ ने पिछले दिनों गृह विभाग की समीक्षा के दौरान भ्रष्ट और नकारा अफसरों को जबरन सेवानिवृत्ति देने के निर्देश दिए थे. इसके बाद ही एडीजी स्थापना पीयूष आनन्द ने सभी एडीजी, आईजी के अलावा यूपी पुलिस के सभी अधिकारियों को लेटर लिख ऐसे पुलिसवालों की सूची मांगी है. इस सूची को 30 जून तक भेजने को कहा है. 

योगी आदित्यनाथ ने समीक्षा के दौरान कहा था कि उन अधिकारियों और कर्मचारियों की यूपी पुलिस में कोई जरूरत नहीं है जो कानून व्यवस्था के प्रति ईमानदारी नहीं बरतते. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस निर्देश के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया था.  

मुख्यमंत्री ने कहा था कि पुलिसकर्मी अपराधियों से सांठगांठ रखते हैं. और ऐसे लोग वर्दी के नाम पर कलंक हैं. इनकी विभाग में कोई जगह नहीं होनी चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा था कि अभियान चलाकर उन पुलिसकर्मियों को चिन्हित करें जिनकी अपराधियों से सांठगांठ है. 

उन्होंने फटकार लगाते हुए कहा था, "आप के आस-पास सारे संसाधन मौजूद हैं, पूरी छूट है और दावे के अनुसार, आप सड़क पर ही रहते हैं तब भी अपराध की घटनाएं क्यों हो रही हैं. अपराध होने के बाद भी आपकी कार्रवाई क्यों नहीं दिखती. किसी घटना का जब मीडिया ट्रायल शुरू हो जाता है, उसके बाद ही आपकी कार्रवाई क्यों दिखती है?"

आंध्र प्रदेश के नए CM जगन मोहन ने चंद्रबाबू से छीना आलीशान बंंगला, सामान फेंका बाहर

मायावती ने ले लिया फाइनल फैसला- अब समाजवादी पार्टी के साथ कभी नहीं करेंगी गठबंधन

First published: 24 June 2019, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी