Home » इंडिया » Uttarakhand: CBI to summon and interrogate Harish Rawat in the CD sting matter on monday
 

उत्तराखंड स्टिंग मामला: हरीश रावत से सोमवार को सीबीआई करेगी पूछताछ

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 May 2016, 16:12 IST

उत्तराखंड के अपदस्थ मुख्यमंत्री हरीश रावत की मुश्किल बढ़ गई है. स्टिंग ऑपरेशन मामले की तफ्तीश कर रही केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की टीम उनसे पूछताछ करेगी. सीबीआई ने पेशी के लिए समन जारी किया है. 

sting

हरीश रावत को कथित तौर से इस स्टिंग की सीडी में लेन-देन की बात करते दिखाया गया है. रावत ने स्टिंग में अपनी आवाज होने की बात मानी थी. एक निजी न्यूज चैनल ने स्टिंग को प्रसारित करने के बाद इसकी प्रामाणिकता का दावा किया था.

sting3

सोमवार को हरीश रावत से इस मामले में सीबीआई पूछताछ करेगी. उत्तराखंड में 27 मार्च से राष्ट्रपति शासन लागू है. जिसको लेकर अभी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है. इस मामले में शुक्रवार को भी सुनवाई होनी है.

स्टिंग सीडी को बताया था साजिश


हालांकि हरीश रावत ने बागी विधायकों की खरीद-फरोख्त के आरोपों से इनकार किया था. रावत ने स्टिंग सीडी को बीजेपी की आपराधिक साजिश का हिस्सा बताया था. 

पढ़ें:उत्तराखंड: विधायकों के 'खरीद-फरोख्त' वाली स्टिंग में दिखे सीएम हरीश रावत

दिल्ली में कांग्रेस के बागी विधायकों ने मार्च में एक स्टिंग की सीडी जारी की थी. हरीश रावत ने कहा था कि बीजेपी सीबीआई जांच के बहाने उन्हें जेल भेजना चाहती है.

26 मार्च को जारी हुई थी सीडी


26 मार्च को दिल्ली के कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में बागी कांग्रेस विधायक हरक सिंह रावत ने हरीश रावत के स्टिंग ऑपरेशन की सीडी जारी की. जिसमें पैसों के लेनदेन की बातचीत होते दिखाया गया.

रावत ने दावा किया था कि कांग्रेस के बागी नौ विधायकों के अलावा बीजेपी के विधायकों को भी खरीदने की कोशिश की जा रही है.

पढ़ें:सुप्रीम कोर्ट: क्या स्टिंग के आधार पर राष्ट्रपति शासन लग सकता है ?

हरक सिंह रावत के मुताबिक स्टिंग ऑपरेशन 23 मार्च को जौलीग्रांट में किया गया था. रावत ने बताया था कि न्यूज चैनल से ही उन्हें स्टिंग की सीडी मिली है. 27 मार्च को केंद्रीय कैबिनेट की सिफारिश के बाद उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया था.

First published: 5 May 2016, 16:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी