Home » इंडिया » Uttarakhand forest fire engulfs 1900 hectare land, 6 killed
 

उत्तराखंड: अाग से 1900 हेक्टेयर जंगल तबाह

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 May 2016, 8:49 IST

उत्तराखंड के जंगलों में लगी भीषण आग का दायरा बढ़ चुका है. अब ये आग राज्य के 13 जिलों के जंगलों में फैल चुकी है. आग से जहां भारी वन संपदा तबाह हुई है, वहीं जीव-जंतुओं के लिए भी मुश्किलें बढ़ती जा रही है.

जंगलों में आग की वजह से पहले ही छह लोगों की मौत हो चुकी है. राज्य में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है.

आग को रोकने के लिए शनिवार को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन बल (एनडीआरएफ) की तीन टीमों को भेजा गया है. वहीं राज्य के वन विभाग के सभी कर्मचारियों की छुट्टी रद्द कर दी गई है.

एनडीआरएफ भी तैनात

उत्तराखंड के पहाड़ी और तराई दोनों क्षेत्रों में 1900 हेक्टेयर से ज्यादा का जंगल तबाह हो गया. मुख्य सचिव शत्रुघ्न सिंह ने बताया कि एनडीआरएफ की टुकड़ियों और विशेषज्ञ दल तैनात किए जा रहे हैं.

गढ़वाल और कुमाऊं के ऐसे क्षेत्रों में एनडीआरएफ के जवानों को तैनात किया जा रहा है, जो आग लगने से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं. एनडीआरएफ के 135 जवानों को मांडा खाल और पौड़ी (गढ़वाल) के जंगलों में भेजा गया है.

मुश्किल में नेशनल पार्क

आग की वजह से नेशनल पार्कों पर भी खतरा मंडरा रहा है. केदारनाथ अभयारण्य, जिम कॉर्बेट और हरिद्वार के राजाजी नेशनल पार्क के जंगलों में इसका असर देखा जा रहा है.

आग से तापमान बढ़ा

मौसम विभाग के निदेशक डॉक्टर बिक्रम सिंह ने बताया कि जिस क्षेत्र में आग लगी होती है, वहां के तापमान में चार से पांच डिग्री तक वृद्धि हो जाती है.

इसके साथ ही आग से धुंध रहती है. जो बारिश से ही छटती है. उतराखंड में तेज गर्मी जंगल की आग की एक वजह हो सकती है.

हाईकोर्ट ने तलब की रिपोर्ट

नैनीताल हाईकोर्ट ने उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग को गंभीरता से लेते हुए रिपोर्ट तलब की है.

हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति केएम जोसफ और न्यायमूर्ति वीके बिष्ट की संयुक्त पीठ ने शुक्रवार को एक जनहित याचिका में सुनवाई के दौरान यह निर्देश दिए.

इस मामले में दो मई को अगली सुनवाई होगी.

First published: 1 May 2016, 8:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी