Home » इंडिया » Uttarakhand HC stays arrest of CM Harish Rawat in the alleged sting CD case
 

उत्तराखंड: स्टिंग सीडी केस में सीएम हरीश रावत की गिरफ्तारी पर रोक

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST
(पीटीआई)

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत को नैनीताल हाईकोर्ट से राहत मिली है. हाईकोर्ट ने स्टिंग सीडी मामले में रावत की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है. मामले की जांच सीबीआई के पास है.

हाल ही में सीबीआई के समन पर सीएम हरीश रावत दिल्ली में जांच एजेंसी के मुख्यालय पर हाजिर हुए थे. इस दौरान उनसे कई घंटे तक पूछताछ चली थी.

अगली सुनवाई 20 जून को

इस मामले में अगली सुनवाई 20 जून को होगी. मुख्यमंत्री हरीश रावत ने स्टिंग ऑपरेशन को बीजेपी की आपराधिक साजिश बताया था, हालांकि उन्होंने ये माना था कि सीडी में आवाज उन्हीं की है.

पढ़ें: उत्तराखंड: विधायकों के 'खरीद-फरोख्त' वाली स्टिंग में दिखे सीएम हरीश रावत

इससे पहले उत्तराखंड हाई कोर्ट ने स्टिंग सीडी मामले में सीबीआई जांच पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था. मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा था कि वह सीबीआई के बुलावे पर दिल्ली जाएंगे और जांच में पूरा सहयोग देंगे.

26 मार्च को पूर्व मंत्री और अब बीजेपी में शामिल हो चुके हरक सिंह रावत ने दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान स्टिंग की सीडी जारी की थी. जिसमें विधायकों की खरीद-फरोख्त को लेकर बातचीत का दावा किया गया था. 

24 मई को हुई थी पूछताछ

मामले की जांच सीबीआई को सौंपी गई थी. कई बार समन मिलने के बाद सीएम हरीश रावत 24 मई को सीबीआई के सामने पूछताछ के लिए हाजिर हुए थे. उत्तराखंड में तकरीबन डेढ़ महीने तक सियासी संकट के हालात थे. सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर विधानसभा में 10 मई को बहुमत परीक्षण हुआ था.

जिसके बाद हरीश रावत ने बीएसपी, पीडीएफ और निर्दलीय विधायकों की मदद से बहुमत हासिल कर लिया था. इसी के अगले दिन 11 मई को राज्य से राष्ट्रपति शासन हटा लिया गया था और हरीश रावत की सत्ता में फिर से वापसी हुई थी.

पढ़ें: उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन हटा, 'रावत राज' की वापसी

First published: 31 May 2016, 3:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी