Home » इंडिया » Uttarakhand high court ordered to cease mobile if found using while driving
 

हाईकोर्ट का निर्देश: ड्राइविंग करते समय बात करने वालों का मोबाइल करें जब्त

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 July 2018, 12:03 IST

ट्रैफिक नियमों को लेकर नागरिकों में अधिकतर उदासीनता दिखाई देती है. ट्रैफिक नियमों में सख्ती बरतते हुए उत्तराखंड में एक नया नियम शुरू किया गया है. अगर अब ड्राइव करते समय किसी को मोबाइल पर बात करते पकड़ा गया तो पुलिस उसका चालान नहीं काटेगी बल्कि उसका फ़ोन जब्त कर लेगी. उत्तराखंड हाई कोर्ट ने ट्रैफिक नियमों में सख्ती बरतने के लिए ये आदेश दिया है.

कोर्ट ने सड़क सुरक्षा को लेकर कई निर्देश दिए है. जिसके तहत कोर्ट ने परिवहन विभाग को ये अधिकार दिया कि ड्राइविंग के दौरान बातचीत करने वालों का अस्थाई तौर पर 24 घंटे के लिए मोबाइल फोन जब्त कर लिया जाये और उन्हें रसीद दी जाये.

गौरतलब है कि पिछले महीने ड्राइविंग के दौरान मोबाइल पर बात करने वालों का लाइसेंस रद्द करने का आदेश दिया था. साथ ही आदेश दिया था कि राज्य सरकार द्वारा कानून में जरूरी बदलाव करने तक नियमों को न मानने वालों से जुर्माने के तौर पर 5 हजार रुपये वसूला जाए.

ये भी पढ़ें- क्या होगा अगर विमान में मोबाइल को फ्लाइट मोड पर नहीं रखा?

यातायात के नियमों को लेकर देश भर में सख्ती बरती जा रही है. सड़क हादसों को रोकने के लिए इन नियमों में ये सख्ती आवश्यक है. द हिंदुस्तान टाइम्स में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, पुणे पुलिस ने बीते 4 महीने में 300 लोगों के लाइसेंस रद्द किए हैं. इसके अलावा, जुर्माने के तौर पर 57 लाख रुपये से ज्यादा की रकम वसूली है. यातायात के नियमों को लेकर आयी सख्ती हाल ही में हुई बस दुर्घटना के बाद बढ़ गयी है. इस बस हादसे में करीब 50 लोग मारे गए थे.

उधर, तमिलनाडु के अरियालुल के रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस ने भी मोबाइल पर बातचीत करते हुए गाड़ी चलाने वालों पर सख्ती की तैयारी की है. दोपहिया वाहन हो या चार पहिया, यातायात अधिकारियों ने जुर्माना लगाने और तीन महीने तक ड्राइविंग लाइसेंस निलंबित करने जैसे कदम उठाने का फैसला किया है

First published: 7 July 2018, 11:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी