Home » इंडिया » Uttarakhand: Hindu girl's fake rape video viral, ABVP leaders burnt Muslims shops
 

हिंदू लड़की के फर्जी रेप का वीडियो वायरल होने पर जला डाली मुसलमानों की दुकानें

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 April 2018, 9:56 IST
(प्रतीकात्मक फोटो)

पूरा देश सांप्रदायिक दंगोंं की आग में जल रहा है. ताजा मामला उत्तराखंड का है जहां एक हिंदू लड़की के रेप का फर्जी वीडियो वायरल होने के बाद दक्षिणपंथी संगठन के लोगों ने मुसलमानों की दुकानें जला डालीं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले के अगस्त्यमुनि थाना क्षेत्र में एक कथित दस वर्षीय हिंदू लड़की का रेप वीडियो वायरल हुआ था. इस वायरल वीडियो में अफवाह फैलाई गई थी कि जिस लड़की का रेप किया गया है उसका आरोपी मुस्लिम शख्स है.

फिर क्या था करीब 2000 लोग अगस्त्यमुनि पुलिस स्टेशन के बाहर जमा हुए लड़की के लिए इंसाफ की मांग की. इसके बाद देखते ही देखते भीड़ उग्र हो गई. भीड़ ने मुसलमानों की 15 दुकानों को आग के हवाले कर दिया. घटना में टाउन के ही दुकानदारोंं और एबीवीपी के सदस्यों के शामिल होने की बात कही गई है.

इलाके के एक स्थानीय निवासी ने बताया कि मुसलमानों की छोटी सी आबादी निवास करती है. जो दुकानों जलाई गईं वह मुस्लिम दुकानदारों की हैं. शुक्रवार की घटना से पहले यहां कभी सांप्रदायिक हिंसा नहीं देखी गई. जो कुछ हुआ वह बहुत चौंकाने वाला है.

 

रुद्रप्रयाग जिले की एसपी तृप्ति भटट् ने बताया कि आरोपियों ने मुस्लिमों की दुकानों को खाली कर दिया. उनके मोबाइल फोन, घड़ियां, कपड़े और सब्जियां सड़क पर रखी दीं गईं और दुकानों को आग के हवाले कर दिया. हालांकि घटना में कोई घायल नहीं हुआ है.

पढ़ें- CWG 2018: देश की झोली में तीसरा पदक, वेटलिफ्टिंग में संजीता चानू ने दिलाया स्वर्ण

एसपी ने बताया कि इस बर्बरता के बाद रुद्रप्रयाग के डीएम मंगेश ने एक अन्य वीडियो सोशल मीडिया में शेयर किया, जिसमें बताया गया कि जो वीडियो वायरल हो रहा है वह फर्जी है. इस दौरान उन्होंने लिखा कि जो वायरल वीडियो में किसी का चेहरा साफ नजर नहीं आ रहा है और ना ही वीडियो में नजर आ रहे युवकों और लड़की की पहचान की जा सकी है. यहां तक इलाके से बलात्कार का कोई केस भी दर्ज नहीं किया गया है.

First published: 7 April 2018, 9:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी