Home » इंडिया » Uttarakhand: Nepal upset with road to Lipulekh pass, appoints soldiers on border starts patrolling
 

उत्तराखंड: भारत ने चीनी सीमा तक बनाई सड़क, बौखलाए नेपाल ने बॉर्डर पर तैनात किए सैनिक

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 May 2020, 13:10 IST

Uttarakhand: भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने करीब हफ्तेभर पहले चीन की सीमा तक भारतीय सड़क का उद्धाटन किया था. उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में बनी लिपुलेख सड़क राजनाथ सिंह ने ऑनलाइन उद्घाटन किया था. सीमा सड़क संगठन ने इसे 12 साल की कड़ी मेहनत के बाद बनाया था.

चीन की सीमा को भारत से जोड़ने वाली इस बेहद अहम सड़क को पहाड़ काटकर बनाया है. यह भारतीय सेना की दृष्टि से काफी अहम इस सड़क के बनने से कैलाश मानसरोवर की यात्रा करने वाले यात्रियों की सुविधा बढ़ गई है. वहीं भारतीय सेना के लिए सुरक्षा के लिहाज से इस सड़क को खासा अहम माना जा रहा है.

हालांकि अब इस सड़क के बनने  से भारत का पड़ोसी देश नेपाल काफी परेशान दिख रहा है. नेपाल सरकार लिपुलेख और कालापानी को हमेशा से अपना बताता रहा है. इसे लेकर सड़क निर्माण के समय उसने अपना विरोध जताया था. वहीं अब उसने भारत से लगे इस इलाके में अपनी चौकसी बढ़ा दी है. इसे लेकर नेपाल ने बॉर्डर पर सैनिक तैनात कर दिए हैं.

Coronavirus : पिछले 24 घंटे में आये 3967 नए मामले, 6 बड़े राज्यों के हाल भी जान लीजिये

नेपाल भारतीय सीमा पर छांगरु में अपनी सेना तैनात कर रहा है. नेपाल यहां तैनात किए जा रहे अपने जवानों को हेलीकॉप्टर की मदद से पहुंचा रहा है. दरअसल, नेपाल में इस कठिन  इलाके तक पहुंचने के लिए रास्ता नही है. नेपाल ने सीतापुल के करीब बनाए अपने चेकपोस्ट में सशस्त्र प्रहरी के 25 और नेपाल प्रहरी के 9 जवानों की तैनाती की है. चेकपोस्ट पर तैनात किए गए जवान आधुनिक सुविधाओं से लैस हैं.

रक्षामंत्री ने किया था उद्घाटन

बता दें कि देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस सड़क का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उद्घाटन किया था. इस मौके पर चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ यानि सीडीएस जनरल बिपिन रावत तथा थल सेनाध्यक्ष जनरल मनोज मुकुंद नरवाने भी मौजूद थे. रक्षामंत्री ने कहा था कि सामरिक महत्व की दृष्टि से भी इस सड़क का निर्माण काफी महत्वपूर्ण है. इसके निर्माण से सेना और अर्धसैनिक बलों के जवानों को भी आवाजाही में काफी सुविधा मिलेगी. 

Badrinath Dham: पहली बार श्रद्धालुओं के बिना खुले बदरीनाथ धाम के कपाट, 28 लोग थे मौजूद

कोरोना संकट के बीच देश के लिए बड़ी खुशखबरी, चीनी सीमा तक पहुंची भारत की सड़क

First published: 15 May 2020, 13:10 IST
 
अगली कहानी