Home » इंडिया » UUNNOW RAP Case: Supreme Court transfer of cases linked to Unnao rape out of UP
 

उन्नाव रेप केस के सभी मामलों की सुनवाई दिल्ली ट्रांसफर, SC ने CBI से मांगी स्टेटस रिपोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 August 2019, 12:33 IST

सुप्रीम कोर्ट की एक बेंच ने गुरुवार को उन्नाव रेप केस से जुड़े सभी मामलों को उत्तरप्रदेश से दिल्ली स्थानांतरित करने का आदेश दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने उन्नाव रेप केस और रायबरेली में इस हफ्ते हुई दुर्घटना पर अब तक हुई सीबीआई जांच की रिपोर्ट आज दोपहर 12 बजे तक सुप्रीम कोर्ट में पेश करने को कहा. सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा कि आज दोपहर 12 बजे तक सीबीआई के किसी जिम्मेदार अधिकारी को अदालत में पेश किया जाये.

हालांकि इसके जवाब में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि इस मामले की जांच कर रहे सीबीआई अधिकारी अभी लखनऊ में हैं, इसलिए उनका आज पेश होना मुश्किल है. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से निवेदन किया कि इस मामले की सुनवाई क्या कल की जा सकती है. सीजेआई ने तुषार मेहता के निवेदन को ठुकरा दिया और कहा कि जांच अधिकारी पर फोन पर जाकारी लेकर 12 बजे तक जांच की पूरी जानकारी 12 बजे तक सुप्रीम कोर्ट को दें. सीबीआई ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय के आदेश पर पिछले साल उन्नाव किशोरी के साथ हुए बलात्कार के मामले की जांच की थी.

भाजपा के चार बार के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को आखिरकार उच्च न्यायालय के आदेश पर पिछले साल गिरफ्तार कर लिया गया था. पीड़िता के परिवार ने आरोप लगाया कि पिछले 16 महीनों में उन्होंने अधिकारियों के 36 पत्र लिखे थे. उनमें से कम एक भारत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को भी लिखा था.

इससे पहले CJI गोगोई कल अदालत में नाखुश दिखाई थी कि अब तक 12 जुलाई को किशोरी का पत्र उनके सामने नहीं लाया गया. चीफ जस्टिस गोगोई ने कहा, 'हम सभी मामलों को सीबीआई के एक जिम्मेदार अधिकारी के साथ बातचीत करने के बाद ही ट्रांसफर करेंगे.

उन्नाव रेप केस : पीड़ित परिवार ने 12 जुलाई को लिखा था CJI को पत्र, घटना के बाद जागा सुप्रीम कोर्ट

 

First published: 1 August 2019, 11:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी