Home » इंडिया » Vardah cyclone alert issue in Tamilnadu, All school closed
 

चेन्नई में 'वरदा' चक्रवात, तूफ़ानी से जनजीवन अस्त-व्यस्त, 2 लोगों की मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 December 2016, 9:03 IST
(एजेंसी)

वरदा चक्रवात ने तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई के तटीय इलाके को अपनी जद में ले लिया है. चक्रवाती तूफ़ान के चलते चेन्नई में तेज हवाओं के साथ बारिश का दौर जारी है. इस बीच दो लोगों की मौत की खबर आ रही है.

तमिलनाडु सरकार ने चक्रवाती तूफान ‘वरदा' को लेकर अलर्ट जारी किया है. उत्तर तमिलनाडु और दक्षिण आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में यह तूफान अपना असर दिखा रहा है. 

तूफानी हवाओं के चलने से चेन्नई के कई इलाकों में नुकसान की खबर है. यहां कुछ जगह बिजली के पोल और दर्जनों पेड़ उखड़ गए हैं. शहर के कुछ हिस्सों में ट्रैफिक जाम भी लग गया है. तकरीबन 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाओं के चलने का अनुमान लगाया जा रहा है.

इसके अलावा चेन्नई एयरपोर्ट पर शाम छह बजे तक के लिए विमान सेवाओं का संचालन रोक दिया गया है. आपात स्थिति से निपटने के लिए तमिलनाडु में राष्ट्रीय आपदा राहत बल (एनडीआरएफ) की सात जबकि आंध्र प्रदेश में छह टीमों को तैनात किया गया है. तूफान के दायरे में आने वाले तटीय इलाके के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है.

नौसेना भी अलर्ट पर

तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में तटीय क्षेत्रों की सुरक्षा के लिए जरूरी कदम उठाए गए हैं. तमिलनाडु ने अपने चार जिलों में सभी शैक्षणिक संस्थानों में छुट्टियों की घोषणा कर दी है.

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि बंगाल की खाड़ी से लगे समूचे आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु में अलर्ट की घोषणा की गई है. नौसेना का कहना है कि किसी भी तरह की आपात स्थिति से निपटने के लिए सर्वे शिप को तैयार रखा गया है. इसके साथ ही थलसेना की सात टुकड़ियां तैनात की गई हैं.

बताया जा रहा है कि अब तक तमिलनाडु में 7357 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. वहीं आंध्र प्रदेश में नौ हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.

तटीय इलाकों में अलर्ट

तमिलनाडु सरकार ने विल्लपुरम के तटीय तालुकों के अलावा चेन्नई, कांचीपुरम और तिरुवल्लूर में शैक्षणिक संस्थानों में छुट्टियां घोषित कर दी है. आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने कलेक्टरों और शीर्ष अधिकारियों के साथ टेलीकॉन्फ्रेंस के जरिए हालात की समीक्षा की.

नायडू ने उन्हें अलर्ट रहने और जरूरी राहत एवं बचाव कार्य करने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि पर्याप्त मात्रा में भोजन और अन्य आवश्यक वस्तुएं तैयार रखी जाएं. दक्षिणी आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में अगले 36 घंटे के लिए मछुआरों को समुद्र के पास न जाने की सलाह दी गई है.

तमिलनाडु सरकार ने एक विज्ञप्ति जारी करके कहा है कि निचले और जोखिम वाले इलाकों से लोगों को निकालने के लिए बंदोबस्त करने के निर्देश दिए गए हैं. भोजन, पानी और अन्य आवश्यक बंदोबस्त के साथ राहत केंद्रों को तैयार रहने के लिए कहा गया है.

इसके अलावा वायुसेना और तट रक्षक बल को भी अलर्ट पर रखा गया है. तमिलनाडु सरकार ने लोगों से भारी बारिश के दौरान घरों में रहने की अपील की है.

First published: 12 December 2016, 9:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी