Home » इंडिया » Venkaiah Naidu: I don't think any other Indian citizen has any doubt about the credentials and commitment of our Indian army
 

वेंकैया नायडू: सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांगने वालों से सेना जैसे चुपचाप निपटेंगे

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 October 2016, 10:39 IST
(फाइल फोटो)

जहां एक ओर देश की सेना ने नियंत्रण रेखा पार करते हुए सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया, वहीं दूसरी ओर अब सियासी पार्टियों के नेता जुबान की नियंत्रण रेखा पार करते हुए इस हमले पर सरकार से सबूत मांग रहे हैं. 

इस बीच केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने विपक्षी पार्टियों के बयानों पर निशना साधा है. नायडू ने कहा, "कुछ लोग ऐसे हैं जो केवल दूसरों के लिए अड़चन पैदा करते हैं. हम उनसे चुपचाप निपट लेंगे. जिस तरह हमारी सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया."

जनता को सेना पर भरोसा

आम आदमी पार्टी और कांग्रेस की ओर से सैन्य ऑपरेशन के सबूत मांगे जाने पर नायडू ने कहा, "ऐसे गैर जिम्मेदार बयानों और मांगों का जवाब देने की जरूरत नहीं है."

साथ ही केंद्रीय मंत्री नायडू ने कहा, "मुझे नहीं लगता कि किसी भारतीय नागरिक को सेना की कार्यकुशलता और समर्पण पर किसी भी तरह का संदेह है."

इससे पहले सोमवार को केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दिल्ली के सीएम केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा था कि दिल्ली के मुख्यमंत्री को पता होना चाहिए कि वे पाकिस्तान के अखबारों की हेडलाइन बने हुए हैं. रविशंकर प्रसाद ने केजरीवाल से अपील की थी कि सेना का अपमान करने वाले बयान न दें.

आप और कांग्रेस ने मांगे सबूत

आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए उन्हें सलाम किया, वहीं पाक के दुष्प्रचार का जवाब देने की मांग करते हुए केजरीवाल ने कहा कि पीएम मोदी को इस प्रोपेगेंडा का भी जवाब देना चाहिए.

यही नहीं कांग्रेस की तरफ से भी ऐसी आवाजें उठीं. पहले पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि ऐसे सर्जिकल स्ट्राइक कोई नई बात नहीं हैं. वहीं इसके बाद कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने और आगे जाते हुए कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक का सियासी फायदे के तौर पर इस्तेमाल हो रहा है.

संजय निरूपम ने ट्वीट करते हुए कहा, "हर हिंदुस्तानी चाहता है कि पाकिस्तान के खिलाफ स्ट्राइक हो लेकिन यह भाजपा के राजनीतिक फायदे के लिए फर्जी वाला नहीं होना चाहिए. देश के हितों पर राजनीति." 

हालांकि निरूपम के बयान से कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कन्नी काटते हुए कहा था कि सेना की विश्वसनीयता पर सवाल नहीं उठाया जा सकता.

कांग्रेस के एक अन्य नेता संजय झा ने भी ट्वीट करते हुए सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाए उन्होंने कहा, "यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान देश में पहले भी कई बार पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक हुए हैं, लेकिन हमने कभी भी सेना की सफलता का राजनीतिक लाभ नहीं लिया."

First published: 5 October 2016, 10:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी