Home » इंडिया » Venkaiah Naidu says renaming of Akbar road not on agenda
 

अकबर रोड का नाम नहीं बदलेगी मोदी सरकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST

दिल्ली के अकबर रोड का नाम बदलने को लेकर उठे विवाद के बीच मोदी सरकार ने साफ किया है कि उसका नाम बदलने का कोई इरादा नहीं है. केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने इस मामले में बयान दिया है. 

हाल ही में केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री और पूर्व सेनाध्यक्ष वीके सिंह ने अकबर रोड का नाम बदलकर राजस्थान के राजपूत शासक महाराणा प्रताप के नाम पर करने की मांग की थी. इसी इलाके में कांग्रेस पार्टी का मुख्यालय भी 24 अकबर रोड पर स्थित है.

नाम बदलने का प्रस्ताव नहीं


अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू के दौरान नायडू ने सरकार का इस मामले में रुख साफ किया. नायडू ने कहा कि ये मामला एनडीएमसी और दिल्ली सरकार के अधिकार क्षेत्र में आता है.

वेंकैया नायडू ने इस मुद्दे को लेकर छिड़े विवाद के बीच कहा कि सरकार के पास ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है. नायडू ने कहा कि कि केंद्र सरकार महाराणा प्रताप के नाम से किसी महत्वपूर्ण सड़क का नामकरण करेगी, लेकिन अकबर रोड का नाम बदलने को लेकर कोई प्रस्ताव नहीं है. 

पढ़ें: औरंगजेब के बाद अकबर और महाराणा प्रताप पर 'रोड राजनीति'

नायडू ने कहा, "सड़क का नाम बदलना हमारी प्राथमिकता नहीं है और न ही हम ऐसी मांगों को सुनेंगे. महाराणा प्रताप देश के एक बहादुर बेटे थे और उनसे करोड़ों लोगों ने सीख ली है."

बीजेपी नेताओं ने की थी मांग


विवाद की शुरुआत हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से हुई थी. खट्टर ने केंद्रीय मंत्री वीके सिंह से मुलाकात करके अकबर रोड का नाम महाराणा प्रताप के नाम पर करने की मांग उठाई थी.

बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने भी इस मांग का समर्थन किया था. इसके बाद विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह ने वेंकैैया नायडू को पत्र लिखकर अकबर रोड का नाम महाराणा प्रताप के नाम पर रखने की मांग की थी.

इससे पहले भी जब दिल्ली के औरंगजेब रोड का नाम बदलकर डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम रोड किया गया, तब भी काफी विवाद हुआ था. 

First published: 20 May 2016, 11:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी