Home » इंडिया » Vice President of India Hamid Ansari's wife Salma Ansari There is nothing called 3 Talaq in Quran
 

उपराष्ट्रपति की पत्नी सलमा अंसारी ने कहा- क़ुरान में तीन तलाक का जिक्र नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 April 2017, 11:05 IST
(फाइल फोटो)

उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी की पत्नी सलमा अंसारी ने तीन तलाक पर सवाल उठाए हैं. सलमा अंसारी ने तीन तलाक के खिलाफ बयान दिया है. उन्होंने यूपी के अलीगढ़ में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि कुरान में ऐसा कुछ भी नहीं लिखा है. 

सलमान ने कहा, "सिर्फ तीन बार 'तलाक, तलाक, तलाक' कहने से तलाक नहीं हो जाता. मुस्लिम महिलाओं को कुरान को पढ़ना और समझना चाहिए, जिससे उन्हें मौलाना गुमराह न कर सकें." सलमा यहां अल नूर चैरिटेबल सोसायटी की तरफ से चाचा नेहरू मदरसा में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंची थीं.

 

'मुस्लिम औरतें खुद कुरान पढ़ें'

तीन तलाक के मुद्दे पर सलमा अंसारी ने कहा, "कुरान पढ़ा है तो खुद ही उसका हल मिल जाएगा. कुरान में तो ऐसा कुछ भी नहीं लिखा है. इसको बेकार का मुद्दा बना रखा है. जिन्होंने कुरान नहीं पढ़ा उनको मालूम ही नहीं है. बात ये है कि आप अरबी में कुरान पढ़ती हैं और ट्रांसलेशन तो पढ़ते नहीं हैं आप लोग. जो मौलाना ने कहा, मुल्ला ने कहा, उसे मान लिया."

उपराष्ट्रपति की पत्नी ने इस दौरान कहा, "'कुरान पढ़के देखिए, हदीस पढ़कर देखिए कि रसूल ने क्या कहा. मैं तो यह कहती हूं कि औरतों में इतनी हिम्मत होनी चाहिए कि खुद कुरान पढ़ें, उसके बारे में सोचें, उसके बारे में ज्ञान हासिल करें कि रसूल ने क्या कहा, शरीयत क्या कहता है. किसी को ऐसे ही फॉलो नहीं करना चाहिए." 

11 मई से सुप्रीम कोर्ट में रोजाना सुनवाई

गौरतलब है कि तीन तलाक के मुद्दे पर कई मुस्लिम महिलाओं ने नाइंसाफी का आरोप लगाया है. यूपी के चुनाव में भी इस मुद्दे को उठाया गया था. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भी दिसंबर में तीन तलाक को कठघरे में खड़ा किया था.

सुप्रीम कोर्ट में तीन तलाक, हलाला निकाह और बहुविवाह को चुनौती देने वाली कई याचिकाएं दाखिल हैं. 11 मई से सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ इस मुद्दे पर रोजाना सुनवाई करेगी. ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट को सौंपे हलफनामे में तीन तलाक के खिलाफ याचिकाओं को गलत ठहराया है.

First published: 10 April 2017, 11:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी