Home » इंडिया » Now army soldier Yagya Pratap Singh alleged officers of house hold duties in a video
 

वीडियो जारी है: सेना के जवान का दर्द- 'बूट पॉलिश और मैम साहब का किचन देखना पड़ता है'

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 January 2017, 9:59 IST
(वीडियो ग्रैब)

पैरा मिलिट्री फोर्स के जवानों के वीडियो सामने आने के बाद अब सेना के एक जवान का वीडियो भी सामने आया है. इस वीडियो में लांस नायक यज्ञ प्रताप सिंह ने अपने अफसरों पर शोषण करने का आरोप लगाया है. 

इससे पहले बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव और सीआरपीेेएफ के जीत सिंह का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. ताज़ा वीडियो में यज्ञ प्रताप ने आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से शिकायत करने की वजह से उसका उत्पीड़न हो रहा है. 

देहरादून में तैनात यज्ञ प्रताप सिंह ने पिछले साल 15 जून को अधिकारियों के कथित शोषण के खिलाफ राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को चिट्ठीा लिखी थी. सेना के अफसरों को जब इस बात की जानकारी हुई, तो जवान की शामत आ गई. अब लांस नायक यज्ञ प्रताप को अंदेशा है कि उसका कोर्ट मार्शल तक किया जा सकता है. 

सौ. यू ट्यूब

यज्ञ प्रताप ने वीडियो में क्या कहा?

लांस नायक यज्ञ प्रताप का वीडियो में कहना है, "मैं सेना में 15 साल से नौकरी कर रहा हूं. लेकिन अफसरों द्वारा जवानों का किस तरीके से शोषण किया जाता है, मैंने देखा है. लेकिन कभी हिम्मत नहीं जुटा सका, क्योंकि सारी शक्ति अफसरों के पास होती है. अगर मैं कोई शिकायत करता हूं तो मुझ पर अफसर कार्रवाई कर सकते हैं."

यज्ञ प्रताप ने वीजियो में कहा, "सेना के अफसर मातहत जवानों का शोषण करते हैं. जैसे घर का काम, अफसरों के बूट पॉलिश करना, मैम साहब के साथ किचन का काम करना, अफसरों के बच्चे को स्कूल छोड़कर आना जैसे तमाम काम जवानों को करने पड़ते हैं जो एक जवान को कभी अच्छा नहीं लगता है लेकिन मजबूरी में करने पड़ते हैं."

लांस नायक यज्ञ प्रताप का कहना है, "अपनी शिकायत के संबंध में प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और मानवाधिकार आयोग को खत लिखा, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला. मुझे मानव अधिकार आयोग से जवाब आया कि ये डिफेंस का मामला है, इसमें हम कुछ नहीं कर सकते."

सीआरपीएफ के जवान जीत सिंह ने अर्ध सैनिक बलों को पेंशन समेत सुविधाओं की मांग की है. (वीडियो ग्रैब)

जवानों के वीडियो से हिला देश

इससे पहले दो जवानों का वीडियो सामने आने के बाद देशभर में जवानों को मिलने वाली सुविधाओं पर नई बहस छिड़ गई थी. सबसे पहले पुंछ में बीएसएफ के 29वें बटालियन में तैनात तेज बहादुर यादव का वीडियो सामने आया. 

जवान तेज बहादुर ने आरोप लगाया कि यूनिट के अफसर मिलीभगत करके राशन बेच देते हैं. वीडियो में पतली दाल और जली हुई रोटी दिखाते हुए तेज बहादुर ने आरोप लगाया कि जवानों को खराब क्वालिटी का खाना दिया जाता है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस मामले में बीएसएफ ने जांच रिपोर्ट सौंप दी है.

यह मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के एक जवान का वीडियो सामने आ गया. जीत सिंह नाम के जवान ने मांग की है कि अर्धसैनिक बलों को भी सेना की तरह पेंशन और हेल्थ फैसिलिटी मिलनी चाहिए.

29 बटालियन में तैनात रहे बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव ने वीडियो में खराब क्वालिटी के खाने देने का आरोप लगाया है.
First published: 13 January 2017, 9:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी