Home » इंडिया » Video: student cross river on a aluminium pot to reach school, this is how education system works in india
 

Video: स्कूल पहुंचने के लिए पतीले पर बैठ नदी पार करते हैं बच्चे, ऐसे कैसे बढ़ेगा इंडिया?

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 September 2018, 8:59 IST
(ANI)

देश में एक तरफ जहां शिक्षा को लेकर नए नए अभियान चलाए जा रहे यहीं. वहीं दूसरी तरफ देश के कई हिस्से ऐसे हैं जहां पर स्कूल एक पहुंचने के लिए भी बुनियादी जरूरतों की आपूर्ति नहीं हो पाती. एक ऐसा ही मामला असम से सामने आया है जहां पर स्टूडेंट्स को स्कूल तक पहुंचने के लिए रोड तक मुहैया नहीं है. ये प्राइमरी स्कूल के छोटे बच्चे एक नदी को पार करके स्कूल जाते हैं ताकि भारत के 'पढ़ेगा इंडिया तभी तो बढ़ेगा इंडिया' के स्लोगन को साकार कर सकें.

लेकिन ध्यान देने की बात ये है कि इन प्राइमरी के बच्चों के पास लिए नदी पार करने के लिए नांव तक की कोई सुविधा नहीं है. पूर्वोत्तर इलाका जहां सरकार के विकास के दावे की पोल इस एक वीडियो से खुल जाती है कि किस तरह आज तक किसी भी सरकार ने स्कूल और रिहायशी इलाके के बीच कोई सड़क का निर्माण नहीं कराया.

इस वीडियो में बच्चे नदी पार करने के लिए अपना अपना एक पतीला लेकर आते हैं. जिसमे बैठ कर वो नदी पार करते हैं, इतना ही नहीं नदी पार करते समय उनके पास उनके भविष्य की चाभी यानी उनकी किताबों का बैग भी होता है. ऐसे में यदि थोड़ी सी भी गड़बड़ हो जाए तो एक बड़ा हादसा हो सकता है. इस तरह से हर रोज नदी पार करने में यदि ज़रा सी भी चूक हो जाए तो कोई भी बच्चा नदी में डूब सकता है.

 

इस बारे में स्कूल के टीचर जे दास ने कहा,''मुझे हमेशा बच्चों को इस तरह नदी पार करते देखकर डर लगता है, यहां कोई पुल नहीं है, इससे पहले ये बच्चे केले के पेड़ से बनी नाव का इस्तेमाल करते थे.''

बच्चों का ये वीडियो वायरल होने के बाद इलाके से बीजेपी विधायक प्रमोज बोर्थकुर ने कहा कि मैं यह देखकर शर्मिदा हूं. इस तरह की जगह पर सरकार के बनाए स्कूल के निर्माण पर उन्होंने कहा, ''इलाके में PWD की एक भी सड़क नहीं है, मुझे नहीं पता कि सरकार ने इस टापू पर कैसे स्कूल का निर्माण किया. हम बच्चों के लिए जरूर नाव उपलब्ध कराएंगे और जिलाधिकारी से भी स्कूल को किसी अन्य जगह पर शिफ्ट करने के लिए कहेंगे.''

सवाल ये है की इलाके के विधायक को इस स्कूल के बारे में जानकारी ही नहीं थी. ऐसे में अगर ये वीडियो वायरल न होता तो अपना भविष्य बनाने जा रहे ये बच्चे कभी भी नदी में किसी हादसे का शिकार हो सकते थे.

First published: 28 September 2018, 8:59 IST
 
अगली कहानी