Home » इंडिया » vijay mallya extraditon case cbi team reached in london.
 

माल्या को भारत लाने लंदन पहुंची CBI और ED की टीम

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 May 2017, 16:09 IST
(फाइल फोटो)

भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या को भारत वापस लाने के लिए सीबीआई की टीम लंदन पहुंच चुकी है. सीबीआई के डिप्टी डायरेक्टर राकेश अस्थाना के नेतृत्व में एक टीम सोमवार को लंदन के लिए रवाना हुई. जानकारी के मुताबिक उनके साथ ईडी के अधिकारी भी लंदन गए हैं. भारत सरकार की कोशिश है कि भगोड़ा घोषित किए गए विजय माल्या को जल्द से जल्द भारत वापस लाया जाए.

लिकर किंग विजय माल्या को भारत की अपील पर स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस ने लंदन में गिरफ्तार किया था. जिसके बाद उन्हें एक घंटे के अंदर ही वहां की वेस्टमिंस्टर कोर्ट से सशर्त जमानत मिल गई थी. दोनों देशों के बीच माल्या के प्रत्यर्पण को लेकर एक समझौता हुआ था. 

ब्रिटिश कोर्ट में प्रत्यर्पण पर सुनवाई शुरू

विजय माल्या की गिरफ्तारी के बाद ब्रिटिश अदालतों में उनके प्रत्यर्पण की प्रक्रिया शुरू हो गई. इसी सिलिसले भारत से सीबीआई के वरिष्ठ अधिकारी के नेतृत्व में एक टीम लंदन गई है. विजय माल्या अपने प्रत्यर्पण को चुनौती दे सकते हैं.

विजय माल्या अपने  प्रत्यर्पण के आधार को राजनीति से प्रेरित करार बताकर इसका विरोध कर सकते हैं. ब्रिटेन के वकील जविंदरा नखवाल ने बताया था कि 17 मई को ये केस अदालत के पास आएगा. सुनवाई में जिला जज दोनों पक्षों से सबूत मांगने का आदेश दे सकते हैं. जिसके लिए सुनवाई की तारीख तय की जा सकती है.

विजय माल्या पर 17 भारतीय बैंकों से 9 हज़ार करोड़ रुपये कर्ज लेने का आरोप है. कर्ज न लौटाने पर माल्या को भारत सरकार ने भगोड़ा घोषित किया है. माल्या 2016 से ब्रिटेन में हैं. विपक्ष मोदी सरकार को विजय माल्या के भारत वापस ना लाने पर लगातार निशाने पर लेता रहा है.

पीटीआई

8 फरवरी को प्रत्यर्पण का आवेदन

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक माल्या पिछले साल मार्च में भारत से फरार हो गए थे. भारत ने इसी साल आठ फरवरी को औपचारिक तौर पर ब्रिटेन सरकार को भारत-ब्रिटेन प्रत्यर्पण संधि के तहत माल्या के प्रत्यर्पण का औपचारिक आवेदन किया था. माना जा रहा है कि वित्त मंत्री अरुण जेटली के ब्रिटेन दौरे के बाद माल्या पर कार्रवाई का रास्ता साफ हुआ है. 

विजय माल्या के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों के तहत भारत में केस दर्ज किया था. इस मामले में बार-बार समन के बावजूद माल्या कोर्ट में हाजिर नहीं हुए थे. गौरतलब है कि माल्या को भारत के हवाले करने पर ब्रिटेन की कोर्ट को अभी अंतिम फैसला करना बाकी है.

स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस के मुताबिक कारोबारी विजय माल्या भारत में एक घोषित अपराधी हैं और उनको प्रत्यर्पण वारंट के बाद गिरफ्तार किया गया था. माल्या पर भारतीय बैंकों का 9 हजार करोड़ से ज्यादा का बकाया है. इसमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का सबसे ज्यादा 1600 करोड़ रुपये कर्ज बाकी है.

एएनआई
फाइल फोटो
First published: 2 May 2017, 16:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी