Home » इंडिया » Vikas Dubey Encounter: UP Police released Vikas Dubey's wife Richa Dubey and son
 

विकास दुबे के एनकाउंटर की खबर सुन फूट-फूटकर रोईं पत्नी, क्लीन चिट देकर यूपी पुलिस ने छोड़ा

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 July 2020, 16:09 IST

Vikas Dubey Encounter: कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों का हत्यारा विकास दुबे आज सुबह यूपी एसटीएफ द्वारा मुठभेड़ में मारा गया. विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद लखनऊ पुलिस ने गैंगस्‍टर की पत्नी ऋचा दुबे और नाबालिग बेटे को छोड़ दिया है. कानपुर के एसएसपी ने इस बाबत बताया कि ऋचा दुबे की कोई भूमिका नहीं मिली है.

कानपुर के एसएसपी ने दोनों मां-बेटे को क्लीनचिट देते हुए कहा कि वारदात के समय ऋचा दुबे मौके पर मौजूद नहीं थीं. एसएसपी ने कहा कि ऋचा दुबे की कोई भूमिका नही मिली है और वह 8 पुलिसकर्मियों के एनकाउंटर की घटना के वक्त बिकरू गांव में मौजूद नहीं थी. 

Vikas Dubey Encounter: विकास दुबे के एनकाउंटर की पूरी कहानी, सिर और कमर में लगी गोली

बता दें कि एक दिन पहले ही पांच लाख के ईनामी गैंगस्टर विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे तथा उसके बेटे को पुलिस को लखनऊ के कृष्णानगर इलाके से उठाया था. इन दोनों की फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी. वायरल फोटो में दोनों मां बेटे घुटने पर बैठे दिखाई दे रहे थे. विकास दुबे का बेटा अभी नाबालिग है. इस कारण भी पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठे थे.

इसके बाद कानपुर पुलिस ने सफाई देते हुए कहा था कि अपराधी विकास दुबे की पत्नी से पुलिस ने पूछताछ की थी, जबकि बेटा नाबालिग होने की वजह से मां के साथ था. पुलिस ने बताया था कि बेटे से कोई पूछताछ नहीं की गई थी.

एनकाउंटर की खबर सुनकर फूट-फूटकर रोईं पत्नी

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, विकास दुबे के एनकाउंटर की खबर सुनकर उनकी पत्नी फूट-फूटकर रोने लगी थीं. रिचा दुबे को पुलिसकर्मियों ने विकास दुबे के एनकांउटर की खबर नहीं दी लेकिन पुलिसकर्मियों के बर्ताव से रिचा को पता चल गया था कि विकास दुबे का एनकांउटर हो गया है. इसके बाद वह फूट-फूटकर रोने लगी थीं. वह पुलिसकर्मियों से कह रही थीं कि बस एक बार विकास का चेहरा दिखा दो.

उज्जैन में हुआ था गिरफ्तार

गौरतलब है कि एक दिन पहले ही विकास दुबे को मध्य प्रदेश के उज्जैन में गिरफ्तार किया गया था. उसे उज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर से पुलिस ने गिरफ्तार किया था. इसके बाद मध्‍य प्रदेश पुलिस ने उसे यूपी एटीएस टीम को सौंप दिया था. विकास दुबे को यूपी एटीएस की टीम सड़क मार्ग से कानपुर ला रही थी. इस दौरान एनकाउंटर में वह मारा गया.

Vikas Dubey Encounter: एक किमी पहले रोकी गई थी मीडिया की गाड़ियां, फिर चली गोली और विकास दुबे ढेर

Vikas Dubey Encounter: कार नहीं पलटी है, राज खुलने से सरकार पलटने से बचाई गयी है- अखिलेश यादव

First published: 10 July 2020, 16:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी