Home » इंडिया » Visakhapatnam Gas Leak Case: 8 people died till now PM Modi ask for emergency meeting CM Reddy leave for Vizag
 

विशाखापट्टनम गैस लीक हादसे में अब तक आठ लोगों की मौत, पीएम मोदी ने बुलाई आपात बैठक

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 May 2020, 12:12 IST

Visakhapatnam Gas Leak Case: आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में केमिकल प्लांट में गैस लीक (Chemical Plant Gas Leak) होने से मरने वालों की संख्या बढ़कर आठ हो गई है. वहीं सैकड़ों लोग बीमार हो गए है. आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी (CM Jagan Mohan Reddy) ने गैस लीक मामले पर हालात का जायजा लिया. बताया जा रहा है सीएम रेड्डी खुद विशाखापट्टनम जाएंगे. वहीं पीएम मोदी (PM Modi) ने भी गैस लीक मामले गंभीरता से लेते हुए आपात बैठक (Emergency Meeting) बुलाई है.

बता दें कि गुरुवार सुबह विशाखापट्टनम के आरएस वेंकटपुरम गांव में एलजी पॉलिमर फैक्ट्री में गैस लीक होने लगी. जिसमें अब तक आठ लोगों की मौत हो चुकी है और 120 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं पुलिस प्रशासन अब घर घर जाकर लोगों की जांच कर रही है. इसी बीच राज्य के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने गैस लीक मामले पर हालात का जायजा लिया. उन्होंने जिला प्रशासन को लोगों की जान बचाने को लेकर हर संभव कदम उठाने का निर्देश दिया है.


Coronavirus Lockdown : एयर इंडिया ने खोली इन देशों के लिए बुकिंग, जानिए क्या हैं शर्तें

जानकारी के मुताबिक, सीएम रेड्डी जल्द ही विजाग के लिए रवाना होने वाले हैं जहां वह किंग जॉर्ज अस्पताल जाएंगे और गैस प्रभावित लोगों का हालचाल जानेंगे. मुख्यमंत्री कार्यालय के मुताबिक, मुख्यमंत्री की पूरे हालात पर नजर है और जिला मशीनरी को तत्काल कदम उठाने और सभी सहायता प्रदान करने को लेकर निर्देश दिया गया है. इस मामले पर गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में एक निजी फर्म में गैस रिसाव के कारण मरने वालों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है. साथ ही उन्होंने स्थिति का जायजा लेने के लिए राज्य के मुख्य सचिव और DGP से बात की है.

उधर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी विशाखापट्टनम में हुई गैस लीक मामले को लेकर दिल्ली में आपात बैठक बुलाई. जिसमें केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी शामिल हुए. इसके अलावा पीएम मोदी ने एनडीएमए की बैठक बुलाई है. प्रधानमंत्री कार्यालय ने इस बारे में जानकारी दी. पीएम मोदी ने कहा कि घटना के संबंध में गृह मंत्रालय और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) के अधिकारियों से बात की है, मामले की कड़ी निगरानी की जा रही है. पीएम मोदी ने कहा कि मैं विशाखापट्टनम में सभी की सुरक्षा और भलाई के लिए प्रार्थना करता हूं.

बुद्ध पूर्णिमा 2020: बुद्ध की दिखाई राह पर चलकर इस संकट से बाहर निकल सकते हैं- PM मोदी

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी विजाग गैस लीक में मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्ति की है. राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि, 'विशाखापत्तनम के पास गैस संयंत्र में रिसाव की खबर से दुखी, जिसने कई लोगों की जान  ले ली. पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी संवेदना. मैं घायलों के ठीक होने और सभी की सुरक्षा के लिए प्रार्थना करता हूं'.

Coronavirus: लगातार तीसरे दिन आये 3000 से ज्यादा मामले, जानिए अब किस राज्य में कितने केस

पुलिस ने आसपास के पांच गांवों को खाली करा दिया है और उन्हें मेघाद्री गेड्डा और दूसरे सुरक्षित जगहों पर ले जाया गया है. गैस लीक होने के बाद कई लोगों को आंखों में जलन और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत होने लगी. खाकर बुज़ुर्गों और छोटे बच्चों को सांस लेने में परेशानी हो रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दुर्घटना पर ट्वीट किया है, "एमएचए और एनडीएमए के अधिकारियों से बात हुई है जो इस दुर्घटना पर नजर बनाए हुए हैं. मैं विशाखापटनम में सभी के सुरक्षित रहने और उनकी बेहतरी की कामना करता हूँ." बता दें कि यह केमिकल प्लांट एलजी पॉलिमर्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड का है. जिसे साल 1961 में बनाया गया था. जो हिंदुस्तान पॉलिमर्स का था जिसका 1997 में दक्षिण कोरियाई कंपनी एलजी ने अधिग्रहण कर लिया था.

चीन के वुहान की लैब में ही बना था कोरोना वायरस, हमारे पास इसके पर्याप्त सबूत हैं: अमेरिका

कोरोना वायरसः दुनियाभर में दो लाख 65 हजार से ज्यादा लोगों की मौत, 38 लाख से अधिक संक्रमित

First published: 7 May 2020, 12:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी