Home » इंडिया » VR lalithambika lead India human space flight programme PM Modi announced
 

देश के लिए गौरव का दिन, PM मोदी ने इस महिला वैज्ञानिक को सौंपी 'गगनयान' मिशन की कमान

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 August 2018, 15:01 IST

देश के लिए गौरव का दिन है. भारत के अंतरिक्ष मिशन 'गगनयान' की जिम्मेदारी इसरो की महिला वैज्ञानिक डॉक्टर वीआर ललिताम्बिका के हाथों में दी गई है. बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से घोषणा की थी कि 2022 तक भारत का कोई बेटा या बेटी तिरंगा लेकर अंतरिक्ष में जाएगा.

देश के लिए यह गर्व की बात है कि इस महत्वाकांक्षी मिशन का नेतृत्व एक महिला के हाथों में होगा. इस अभियान में 10,000 करोड़ रुपए की लागत आने की बात कही जा रही है. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के चेयरमैन के सिवान ने इस अभियान की जिम्मेदारी लॉन्च वेहिकल टेक्नॉलजी में एस्ट्रोनॉटिकल सोसायटी एक्सीलेंस अवॉर्ड जीत चुकीं ललिताम्बिका को सौंपी है. अगर यह अभियान सफल रहता है तो भारत, रूस- चीन और अमेरिका के बाद यह कामयाबी हासिल करने वाला चौथा देश होगा. 

पढ़ें- मिलिए उन लोगों से जो चलाते हैं भारतीय रिजर्व बैंक, बोर्ड में शामिल हैं ये 21 लोग

कौन हैं ललिताम्बिका?

ललिताम्बिका एडवांस्ड लॉन्चर टेक्नोलजी की विशेषज्ञ हैं. वह 1988 में वीएससीसी में शामिल हुई थीं. वह इस केंद्र में कंट्रोल, गाइडेंस और साइमुलेशमन रिसर्च वर्क की प्रभारी रही हैं. इन्हीं के कंधों में रॉकेट को उड़ाने की जिम्मेदारी होती है. ललिताम्बिका ईंधन प्रणाली, ऑटोपायलट प्रणाली, रॉकेट कम्प्यूटर्स एवं हार्डवेयर की डिजायन करने वाली टीम की अगुवाई करती हैं.

ललिताम्बिका रॉकेट के ऑटोपायलट्स को बनाने के काम का भी नेतृत्व कर चुकी हैं. उन्होंने जियोसिन्क्रोनस सैटलाइट लॉन्च वीकल एमके-3 के डिजाइन का रिव्यू करने वाली टीम का नेतृत्व किया है. वह तिरुवनंतपुरम स्थित विक्रम साराभाई स्पेस सेंटर की डेप्युटी डायरेक्टर भी रह चुकी हैं. बता दें कि इसरो के मौजूदा चेयरमैन के. सिवान उस दौरान स्पेस सेंटर के निदेशक थे.

पढ़ें- केरल के व्यक्ति ने बाढ़ पीड़ितों पर की ऐसी टिप्पणी.. दुबई की कंपनी ने छीन ली नौकरी

ललिताम्बिका देश के पहले मानव मिशन की परियोजना में निजी क्षेत्र का भी सहयोग हासिल करेंगी. इसके अलावा वह एक्सपर्ट, भारतीय वायु सेना, डीआरडीओ और विदेशी संस्थानों से मिलकर काम करेंगी.

First published: 20 August 2018, 15:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी