Home » इंडिया » VVIP Helicopter scam: accused rajiv sexena and deepak talwar extradite from dubai
 

अगस्ता वेस्टलैंड केसः मोदी सरकार को मिली बड़ी कामयाबी, ईडी ने दो आरोपियों का दुबई से कराया प्रत्यर्पण

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 January 2019, 13:12 IST

अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को बड़ी सफलता हाथ लगी है. इस घपले में वांछित दुबई के एक कारोबारी और एक कॉरपोरेट विमानन लॉबिस्ट को भारत प्रत्यर्पित किया गया और ईडी ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है. मोदी सरकार की ये बड़ी सफलता मानी जा रही है. गिरफ्तार किए गए राजीव  सक्सेना 3,600 करोड़ रुपये के अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर मामले में वांछित था और लॉबिस्ट दीपक तलवार विदेशी फंडिंग के द्वारा प्राप्त 90 करोड़ रुपये की अनियमितता मामले में ईडी और सीबीआई को इनकी तलाश थी.

इन दोनों आरोपियों को तड़के सुबह विशेष विमान से दिल्ली लाया गया. प्रवर्तन निदेशालय ने धन शोधन निरोधक कानून (पीएमएलए) के तहत दोनों को हिरासत में लिया है. अधिकारियों ने बताया कि दुबई प्रशासन ने भारतीय एजेंसियों के अनुरोध पर दोनों को बुधवार को पकड़ा था. ईडी  दोनों से पूछताछ कर रही है और मेडिकल के बाद उन्हें अदालत में पेश किया जाएगा.

अगस्ता वेस्टलैंड मामले में एक अन्य आरोपी आरोपी और कथित बिचौलिए ब्रिटिश नागरिक क्रिश्चियन जेम्स मिशेल को भी हाल ही में दुबई से प्रत्यर्पित कर भारत लाया गया था और वह अभी न्यायिक हिरासत में है. सक्सेना के वकीलों ने एजेंसी पर आरोप लगाया कि उनके खिलाफ यूएई में प्रत्यर्पण की कोई क़ानूनी कार्रवाई नहीं की गई और उन्हें भारत भेजते समय उनके वकीलों या परिवार से संपर्क नहीं करने दिया गया. लॉबिस्ट दीपक तलवार पर जालसाजी, आपराधिक षडयंत्र, और 90.72 करोड़ रुपये की कथित हेराफेरी के लिए विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. तलावार पर आयकर विभाग ने भी टैक्स चोरी का आरोप लगाया है जबकि ईडी और सीबीआई ने भ्रष्टाचार के आपराधिक मामलों में मामला दर्ज किया था.

First published: 31 January 2019, 13:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी