Home » इंडिया » Waseem Rizvi chairman of shia waqf board says Lord Ram came to his dream and was crying for ayodhya temple
 

शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन रिजवी के सपने में आए भगवान राम, मंदिर के लिए रो पड़े रामलला

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 September 2018, 15:03 IST
(File Photo)

देश में जैसे जैसे चुनाव का वक़्त करीब आ रहा है राम मंदिर का मुद्दा और अधिक गर्माता जा रहा है. उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री पद संभालने के बाद से ही राम मंदिर के मसले पर शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी का मिजाज बदला हुआ सा दिख रहा है. इस विवाद में रिजवी लगातार राम मंदिर के पक्ष में नजर आ रहे हैं. हाल ही में राम मंदिर को लेकर रिजवी ने कहा कि अधोध्या की हालात पर दुखी भगवान राम उनके सपने में आए थे. उन्होंने आगे कहा कि राम मंदिर के हालात को देखकर भगवान् राम उनके सपने में रोते हुए भी दिखे.

इतना ही नहीं आगे रिजवी ने भारत के कट्टरपंथी मुसलामानों पर निशाना साधते हुए कहा कि ये लोग पाकिस्तान के झंडे को ही इस्लाम का झंडा बताते हैं. पाकिस्तान के झंडे से मोहब्बत करना इन लोगों ने अपना ईमान समझा है. आगे उन्होंने कहा, '' वो लोग श्रीराम जन्मभूमि पर अपना बाबरी पंजा जमाए हुए हैं.''


इतना ही नहीं मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पर संगीन आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि बोर्ड कांग्रेस की मदद से राम जन्मभूमि के मुद्दे को अभी तक उलझाए हुए है, जिसके लिए पैसों की फंडिंग पाकिस्तान से की जाती है. शायराना अंदाज में तंज कसते हुए रिजवी ने कहा, ''मौलवी के हर अमल का फिक्स अपना रेट है. कैसी टोपी, कैसी दाढ़ी सबका अपना पेट है.''

प्रधानमंत्री मोदी खोलेंगे लाल बहादुर शास्त्री की मौत का रहस्य !

राम मंदिर मामले में जल्द फैसले की पैरवी करते हुए रिज़वी ने कहा कि मंदिर मामले में फैसला करने में अब देरी नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि इस मामले में हो रही देरी से भक्तों के साथ साथ खुद भगवान राम भी निराश और उदास हो गए हैं.

First published: 25 September 2018, 15:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी